स्फूर्ति योजना 2022 : SFURTI Yojana 2022 Registration

Sfurti Yojna 2022 Registration । Sfurti Yojana 2022 क्या है

Sfurti Yojana 2022 क्या है , 2005 में भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय ने पारंपरिक उद्योग के उत्थान एवं विकास के लिए सरकारी फंड योजना के तौर पर Sfurti Yojana शुरू की गई थी।

इस योजना के तहत बांस, खादी और शहद जैसे ग्रामीण एमएसएमई उद्योग में काम करने वाले कारीगरों की क्षमता और कौशल विकास क्लस्टर बनाकर करना शामिल है। जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि, यह किसी कार्यक्षेत्र को तेजी प्रदान करने वाली योजना है। 

SFURTI Yojana 2022 Registration

स्फूर्ति योजना के तहत बांस, खादी और शहद जैसे एमएसएमई उद्योग में काम करने वाले कारीगरों को ट्रेनिंग और कारीगर एक्सचेंज यानी एक उद्योग के कारीगरों को किसी दूसरे उद्योग में काम सीखने के लिए भेजा जाता है।

बजट सत्र 2019 में 5 जुलाई को देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारामण ने अपने पहले बजट भाषण में कहा कि कृषि-ग्रामीण औद्योगिक क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए सरकार स्फूर्ति (SFURTI) योजना के तहत बांस, खादी और शहद पर ध्यान देने के साथ समूह (क्लस्टर) आधारित विकास पर सरकार का जोर है। 

SFURTI स्कीम के तहत वर्ष 2019-20 में 100 नए क्लस्टर बनाए जाने की घोषणा हुई है। इस घोषणा के तहत करीब 50 हजार हस्त कारीगरों (हस्तशिल्पियों) को रोजगार मिलने की संभावना है। वित्त मंत्री के घोषणा के बाद से ही यह योजना एक बार फिर से चर्चा में आ गई है। MSME Registration Online .

पारंपरिक ग्रामीण उद्योगों के लिए सतत विकास, रोजगार और शासन प्रणाली को मजबूत करने के लिए स्फूर्ति योजना को शुरू किया गया था। इस योजना में बेहतर उपकरणों, उपकरणों और मार्केटिंग के बुनियादी ढांचों को मुहैया कराने की मांग की गई है।

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana 2022

Key Highlights Of SFURTI Yojana 2021

योजना का नामस्फूर्ति योजना
किस ने लांच कीभारत सरकार
लाभार्थीभारत के नागरिक
उद्देश्यपारंपरिक उद्योगों का विकास करना
आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें
साल2022

हरियाणा हर हित स्टोर योजना 

Sfurti Yojna 2022 का उद्देश्य क्या है?

स्फूर्ति योजना का उद्देश्य निम्न है:

  • पारंपरिक ढंग से काम कर रहे उद्योगों और उनके कारीगरों को अधिक कुशल बनाना और उनके अंदर प्रतियोगी भावना का विकास करना। ताकि वह अधिक बेहतर काम कर सकें।
  • पुराने जमाने के उद्योगों को आर्थिक तौर पर स्थिरिता प्रदान करना।
  • इस बात का ध्यान रखना कि पारंपरिक उद्योगों में कारीगरों और ग्रामीण उद्यमियों के लिए निरंतर रोजगार प्रदान उपलब्ध रहे।
  • ग्रामीण उद्योगों के प्रोडक्ट की डिजाइन, ब्रांडिंग और मार्केटिंग की व्यवस्था करना।
  • परम्परागत ग्रामीण उद्योगों में करीगरों के लिए ट्रेनिग और कारीगर एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत पारंपरिक कारीगरों के कौशल और क्षमताओं का विकास करना।
  •  से लैस करने के लिए;
  • कारीगरों के लिए बेसिक उपकरणों और सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करना।
  • ग्रामीण उद्योगों के हितधारकों के लिए शासन प्रणाली द्वारा अवसरों की उपलब्धता सुनिश्चित करना।
  • ग्रामीण उद्यमियों को इस बात के लिए तैयार करना कि वह चुनौतियों और अवसरों का सामना करने में सक्षम हों सकें।
  • पारम्परिक उद्योगों के लिए नवीन कौशल, बेहतर टेक्नोलॉजी और बाजार तक पहुंचने का नए मॉडल प्रदान करने में मदद करना।
  • ग्रामीण उद्योगों के लिए ऐसे क्लस्टर की पहचान करना जहां पर कारीगरों को कौशल विकास और क्षमता का विकास के लिए आदान – प्रदान किया जा सके।

Warehouse Subsidy scheme

SFURTI Yojana 2022 का लाभ तथा विशेषताएं

  • स्फूर्ति योजना के माध्यम से पारंपरिक ढंग से काम कर रहे हैं उद्योगों का कौशल विकास प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से उद्योगों में स्थिरता बनी रहेगी।
  • इस योजना के माध्यम से कारीगरों के लिए उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी जिससे कि उन्हें काम करने में आसानी हो।
  • ग्रामीण उद्यमियों को चुनौती और अफसरों का सामना करने के लिए इस योजना के अंतर्गत सक्षम बनाया जाएगा।
  • SFURTI Yojana 2020 के अंतर्गत ग्रामीण उद्योगों के लिए क्लस्टर बनाए जाएंगे जिससे कि उस क्लस्टर के कारीगरों की कौशल विकास किया जा सके।
  • इस योजना के माध्यम से रोजगार में भी बढ़ोतरी होगी।
  • स्फूर्ति योजना का आरंभ भारत के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय द्वारा किया गया है।
  • इस योजना के अंतर्गत बांस, खादी तथा शहर जैसे ग्रामीण एमएसएमई उद्योग से जुड़े कारीगरों की क्षमता का विकास किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत कारीगरों को ट्रेनिंग भी प्रदान की जाएगी।
  • SFURTI Yojana 2020 का आरंभ वर्ष 2005 में किया गया था।
  • इस योजना के अंतर्गत 50000 हस्त कारीगरों को रोजगार मिलेगा।
  • स्फूर्ति योजना के अंतर्गत एक करोड़ रुपए से लेकर 8 करोड रुपए तक का फाइं प्रदान किया जाएगा।

Sfurti Yojna का लाभ किसे मिल सकता है?

स्फूर्ति योजना में निम्न लोगों को लाभ प्राप्त हो सकता है:

  • कारीगर
  • श्रमिक 
  • मशीनरी निर्माता 
  • कच्चे माल प्रदाता (कच्चे माल का सप्लायर)
  • उद्यमी 
  • संस्थागत विकास सेवा (BDS) प्रदाता
  • निजी व्यवसाय विकास सेवा (BDS) प्रदाता
  • शिल्पकार संघ 
  • सहकारी संघ 
  • उद्यमों के नेटवर्क 
  • स्वयं सहायता समूह (SHG) 
  • उद्यम संघ 
  • कॉर्पोरेट्स और कॉर्पोरेट रेस्पोंसिबिलिटी (CSR) फाउंडेशन
  • राज्य और केंद्र सरकारों के फील्ड अधिकारी
  • केंद्र और राज्य सरकारों के अर्ध-सरकारी संस्थान और संस्थान
  • गैर-सरकारी संगठन (NGO)
  • पंचायती राज संस्थान (PRIs)
  • क्लस्टर विशिष्ट निजी क्षेत्र (SPV)

Mudra Loan Kya hai

आदि के साथ ग्रामीण उद्योग कार्यान्वयन करने वाली एजेंसियां, सरकारी संस्थान / संगठन और नीति निर्माताओं के क्षेत्र कार्यवाहक, जो सीधे पारंपरिक उद्योगों में लगे हुए है, को भी को स्फूर्ति योजना का लाभ प्राप्त हो सकता है।

स्फूर्ति योजना 2022 की पात्रता तथा आवश्यक दस्तावेज

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आवेदक को भारत का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक डिटेल्स

Apply >>

Apply for SIDBI loan

Udyog Aadhaar Registration

स्फूर्ति योजना के तहत कितना फंड मिलता है?

किसी भी विशेष प्रोजेक्ट के लिए अधिकतम 8 करोड़ रुपये तक की आर्थिक सहायता दी जा सकती है। SFURTI स्कीम के तहत सॉफ्ट, हार्ड और थीमैटिक इंटरवेंशन के लिए निम्न फंड देने की व्यवस्था की गई है: 

  • हेरिटेज क्लस्टर्स यानी पुराने उद्योग समूह में अगर 1000 – 2500 कारीगर हैं तो 8 करोड़ रुपये तक की आर्थिक सहायता दी जा सकती है।  
  • प्रमुख क्लस्टर में 500 – 1000 कारीगर हैं तो 3 करोड़ रुपये तक की आर्थिक सहायता दी जा सकती है।  
  • मिनी क्लस्टर में 500 तक कारीगर हैं तो 1 करोड़ रुपये तक की आर्थिक सहायता दी जा सकती है।

Note: यहां यह ध्यान देने वाली बात है कि उत्तर पूर्वी क्षेत्र / जम्मू और कश्मीर और पहाड़ी राज्यों के लिए, प्रति क्लस्टर कारीगरों की संख्या में 50% की कमी मान्य है। 

Download >>

Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana Application Form

ग्रामीण और कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें ग्रामीण और कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

सहयोग करें

आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:


  • Paytm: 9650438558
  • UPI: 9650438558@paytm

Leave a Comment