प्रधानमंत्री रामबाण सुरक्षा योजना : pradhanmantri ramban suraksha yojana 2022

pradhanmantri ramban suraksha yojana 2022 ( Registration , List , Card )

वाट्सएप पर पिछले कई दिनों से एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री रामबाण सुरक्षा योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत युवाओं को 4000 रुपए की आर्थिक मदद मिलने का दावा किया जा रहा है। साथ ही मैसेज के साथ एक लिंक शेयर हो रहा है, जिसको लेकर कहा जा रहा है कि इस लिंक पर क्लिक करके आप योजना का लाभ उठा सकते हैं।

आपको बता दें कि इससे पहले भी पीएमओ द्वारा इस योजना के संचालन के बारे में अफवाह फैलाई गई थी, जिसके बाद सरकार द्वारा स्पष्टीकरण भी दिया गया था कि भारत सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है। अतः इस तरह फॉर्म को भरने से पहले लोगों को आगाह रहना चाहिए।

प्रधानमंत्री रामबाण सुरक्षा योजना

पीआईबी की फैक्ट चेक टीम ने जब इस दावे की पड़ताल शुरू की तो पता चला कि सरकार ने ऐसी कोई योजना शुरू नहीं की है, जिसमें युवाओं को आर्थिक मदद देने का दावा किया गया हो। पीआईबी ने बताया है कि ये दावा एकदम फर्जी है, केंद्र सरकार के द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है। ऐसे फर्जी दावों पर यकीन ना करें और ना ही ऐसी फर्जी वेबसाइट पर अपनी निजी जानकारी को शेयर करें।

घरौनी योजना प्रमाण पत्र डाउनलोड कैसे करे

कोरोना वायरस के उपचार के लिए सरकार प्रधानमंत्री रामबाण सुरक्षा योजना के तहत युवाओं को 4000 रुपए की आर्थिक सहायता दे रही है, इस तरह का दावा सोशल मीडिया पर किया जा रहा है। यह दावा सही है या गलत इसको लेकर अब सरकार की तरफ से जानकारी दी गई है। भारत सरकार के प्रेस सूचना ब्यूरो की फैक्ट चेक इकाई (PIB Fact Check) ने इस दारे को फर्जी बताया है।

PIB Fact Check की तरफ से कहा गया है कि केंद्र सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना (प्रधानमंत्री रामबाण सुरक्षा योजना) नहीं चलाई जा रही है। PIF Fact Check की तरफ से नागरिकों को कहा गया है कि इस तरह का दावा करने वाली किसी भी फर्जी वेबसाइट पर अपनी निजी जानकारी साझा न करें। 

pradhan mantri swamitva yojana

सरकार की योजनाओं को लेकर सोशल मीडिया पर कई बार भ्रामक जानकारी दी जाती है और कुछ वेबसाइट लिंक बताए जाते हैं, तथा यूजर से कहा जाता है कि उन लिंक्स के ऊपर अपनी जानकारी साझा करें। लेकिन बाद में लिंक भेजने वाले लोग यूजर्स की निजी जानकारी का गलत इस्तेमाल करते हैं और कई बार यूजर्स के बैंक खातों से पैसे भी निकाल लेते हैं। ऐसे में सरकार ने नागरिकों से आग्रह किया है कि किसी भी फर्जी वेबसाइट पर अपनी निजी जानकारी साझा न करें। 

Leave a Comment