बकरी पालन लोन के लिए आवेदन कैसे करें

बकरी पालन लोन (Goat Farming Loan) एक प्रकार का वर्किंग कैपिटल लोन है जिसका उपयोग बकरी पालन व्यवसाय के लिए किया जा सकता है। किसी भी व्यवसाय की तरह बकरी पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए कुछ राशि की आवश्यकता होती है। वर्किंग कैपिटल की ज़रूरतों को पूरा करने और कैश फ्लो को बनाए रखने के लिए, ग्राहक विभिन्न निजी और सरकारी बैंकों द्वारा दिए गए बकरी पालन लोन का विकल्प चुन सकते हैं।

देश के बेहतरीन पशुधन प्रबंधन विभागों में से एक होने के नाते, बकरी पालन अधिक लाभ और राजस्व की संभावनाओं के साथ लोकप्रिय हो रहा है। यह लम्बे समय तक रहने वाला एक लाभदायक और टिकाऊ व्यवसाय है। कॉमर्शियल बकरी पालन बड़े उद्यमों, व्यापारियों, उद्योगपतियों और उत्पादकों द्वारा किया जाता है। बकरी पालन दूध, चमड़ा और फाइबर का प्रमुख स्रोत है।

बकरी पालन लोन (Goat Farming Loan) का उपयोग भूमि खरीद, शेड निर्माण, बकरियां खरीदने, चारा खरीदने आदि के लिए किया जा सकता है। सरकार ने बकरी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए उद्यमियों के लिए कई नई योजनाएं शुरू की हैं और सब्सिडी शुरू की है। बैंकों या लोन संस्थानों की सहायता से शुरू की गई कुछ प्रमुख योजनाओं और सब्सिडी की जानकारी नीचे दी गई है।

एसबीआई (SBI) बकरी पालन लोन

बकरी पालन के लिए लोन राशि व्यवसाय की आवश्यकताओं और आवेदक की प्रोफाइल पर निर्भर करेगी। आवेदक को एक अच्छी तरह से तैयार किया गया बिज़नेस प्लान पेश करनी चाहिए जिसमें क्षेत्र, स्थान, बकरी की नस्ल, उपयोग किए गए उपकरण, वर्किंग कैपिटल निवेश, बजट, मार्केटिंग की रणनीति, श्रमिकों का विवरण आदि जैसी सभी आवश्यक व्यवसायिक जानकारी शामिल होनी चाहिए, आवेदक द्वारा योग्यता शर्तों को पूरा करने के बाद एसबीआई आवश्यकता के अनुसार लोन राशि को मंज़ूरी देगा। एसबीआई भूमि के कागज़ों को गारंटी के रूप में पेश करने के लिए कह सकता है। ब्याज दर आवेदक की प्रोफाइल के आधार पर अलग-अलग हो सकती है।

बकरी पालन के लिए नाबार्ड लोन

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) का मुख्य फोकस पशुधन खेती के उत्पादन को बढ़ाने के लिए छोटे और मध्यम किसानों की आर्थिक मदद करना है जो अंततः रोज़गार के अवसरों में वृद्धि करेगा।

नाबार्ड विभिन्न बैंकों या लोन संस्थानों की मदद से बकरी पालन लोन प्रदान करता है

  • कॉमर्शियल बैंक
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • राज्य सहकारी कृषि और ग्रामीण विकास बैंक
  • राज्य सहकारी बैंक
  • शहरी बैंक

नाबार्ड की योजना के अनुसार, गरीबी रेखा के नीचे, SC / ST श्रेणी में आने वाले लोगों को बकरी पालन पर 33% सब्सिडी मिलेगी। अन्य लोगों के लिए जो ओबीसी और सामान्य श्रेणी के अंतर्गत आते हैं, उन्हें 25% सब्सिडी मिलेगी। जो कि अधिकतम 2.5 लाख रु. होगी।

केनरा बैंक बकरी पालन लोन

कैनरा बैंक अपने ग्राहकों को आकर्षक ब्याज दरों पर भेड़ और बकरी पालन लोन (Canara Bank Goat Farming Loan) प्रदान करता है । पालन ​​के लिए एक विशिष्ट क्षेत्र के अनुकूल बकरियों की खरीद के उद्देश्य से लोन का लाभ उठाया जा सकता है।

विशेषताएं:

लोन राशि:  व्यावसायिक आवश्यकताओं पर निर्भर करती है

भुगतान अवधि:  4 से 5 वर्ष तक (तिमाही / छमाही वार्षिक भुगतान)

मार्जिन:  1 लाख रु. तक के लोन के लिए – शून्य,  1 लाख रु. से ज़्यादा की लोन राशि पर – 15% से 25%

गारंटी:  1 लाख रु. तक के लोन के लिए: लोन राशि से बनाई जाने वाली संपत्ति गिरवी रखनी होगी,

1 लाख रु. से अधिक के लोन के लिए: ज़मीन और लोन राशि से बनाई जाने वाली संपत्ति गिरवी रखनी होगी

बकरी पालन लोन (Goat Farming Loan) एक प्रकार का वर्किंग कैपिटल लोन है जिसका उपयोग बकरी पालन व्यवसाय के लिए किया जा सकता है। किसी भी व्यवसाय की तरह बकरी पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए कुछ राशि की आवश्यकता होती है। वर्किंग कैपिटल की ज़रूरतों को पूरा करने और कैश फ्लो को बनाए रखने के लिए, ग्राहक विभिन्न निजी और सरकारी बैंकों द्वारा दिए गए बकरी पालन लोन का विकल्प चुन सकते हैं।

देश के बेहतरीन पशुधन प्रबंधन विभागों में से एक होने के नाते, बकरी पालन अधिक लाभ और राजस्व की संभावनाओं के साथ लोकप्रिय हो रहा है। यह लम्बे समय तक रहने वाला एक लाभदायक और टिकाऊ व्यवसाय है। कॉमर्शियल बकरी पालन बड़े उद्यमों, व्यापारियों, उद्योगपतियों और उत्पादकों द्वारा किया जाता है। बकरी पालन दूध, चमड़ा और फाइबर का प्रमुख स्रोत है।

बकरी पालन लोन (Goat Farming Loan) का उपयोग भूमि खरीद, शेड निर्माण, बकरियां खरीदने, चारा खरीदने आदि के लिए किया जा सकता है। सरकार ने बकरी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए उद्यमियों के लिए कई नई योजनाएं शुरू की हैं और सब्सिडी शुरू की है। बैंकों या लोन संस्थानों की सहायता से शुरू की गई कुछ प्रमुख योजनाओं और सब्सिडी की जानकारी नीचे दी गई है।

मुख्य बैंकों से सबसे बेहतर वर्किंग कैपिटल लोन ऑफर प्राप्त करेंअभी अप्लाई करें

एसबीआई (SBI) बकरी पालन लोन

बकरी पालन के लिए लोन राशि व्यवसाय की आवश्यकताओं और आवेदक की प्रोफाइल पर निर्भर करेगी। आवेदक को एक अच्छी तरह से तैयार किया गया बिज़नेस प्लान पेश करनी चाहिए जिसमें क्षेत्र, स्थान, बकरी की नस्ल, उपयोग किए गए उपकरण, वर्किंग कैपिटल निवेश, बजट, मार्केटिंग की रणनीति, श्रमिकों का विवरण आदि जैसी सभी आवश्यक व्यवसायिक जानकारी शामिल होनी चाहिए, आवेदक द्वारा योग्यता शर्तों को पूरा करने के बाद एसबीआई आवश्यकता के अनुसार लोन राशि को मंज़ूरी देगा। एसबीआई भूमि के कागज़ों को गारंटी के रूप में पेश करने के लिए कह सकता है। ब्याज दर आवेदक की प्रोफाइल के आधार पर अलग-अलग हो सकती है।

बकरी पालन के लिए नाबार्ड लोन

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) का मुख्य फोकस पशुधन खेती के उत्पादन को बढ़ाने के लिए छोटे और मध्यम किसानों की आर्थिक मदद करना है जो अंततः रोज़गार के अवसरों में वृद्धि करेगा।

नाबार्ड विभिन्न बैंकों या लोन संस्थानों की मदद से बकरी पालन लोन प्रदान करता है

  • कॉमर्शियल बैंक
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • राज्य सहकारी कृषि और ग्रामीण विकास बैंक
  • राज्य सहकारी बैंक
  • शहरी बैंक

नाबार्ड की योजना के अनुसार, गरीबी रेखा के नीचे, SC / ST श्रेणी में आने वाले लोगों को बकरी पालन पर 33% सब्सिडी मिलेगी। अन्य लोगों के लिए जो ओबीसी और सामान्य श्रेणी के अंतर्गत आते हैं, उन्हें 25% सब्सिडी मिलेगी। जो कि अधिकतम 2.5 लाख रु. होगी।

केनरा बैंक बकरी पालन लोन

कैनरा बैंक अपने ग्राहकों को आकर्षक ब्याज दरों पर भेड़ और बकरी पालन लोन (Canara Bank Goat Farming Loan) प्रदान करता है । पालन ​​के लिए एक विशिष्ट क्षेत्र के अनुकूल बकरियों की खरीद के उद्देश्य से लोन का लाभ उठाया जा सकता है।

विशेषताएं:

लोन राशि:  व्यावसायिक आवश्यकताओं पर निर्भर करती है

भुगतान अवधि:  4 से 5 वर्ष तक (तिमाही / छमाही वार्षिक भुगतान)

मार्जिन:  1 लाख रु. तक के लोन के लिए – शून्य,  1 लाख रु. से ज़्यादा की लोन राशि पर – 15% से 25%

गारंटी:  1 लाख रु. तक के लोन के लिए: लोन राशि से बनाई जाने वाली संपत्ति गिरवी रखनी होगी,

1 लाख रु. से अधिक के लोन के लिए: ज़मीन और लोन राशि से बनाई जाने वाली संपत्ति गिरवी रखनी होगी

बिज़नेस लोन के लिए अप्लाई करें. 14.99% प्रतिवर्ष से शुरूअभी अप्लाई करें

आईडीबीआई बैंक

आईडीबीआई बैंक अपनी योजना ‘Agriculture Finance Sheep & Goat Rearing’ के तहत भेड़ और बकरी पालन के लिए लोन प्रदान करता है । भेड़ और बकरी पालन के लिए IDBI बैंक द्वारा दी जाने वाली न्यूनतम लोन राशि 50,000 रु. है और अधिकतम लोन राशि 50 लाख रु. है। यह लोन राशि व्यक्तियों, समूहों, सीमित कंपनियों, शेपर्ड के सह-ऑप सोसायटी और संस्थाओं द्वारा ली जा सकती है जो इस गतिविधि में लगे हुए हैं।

बकरी पालन के लिए MUDRA लोन

चूंकि बकरी पालन कृषि क्षेत्र के अंतर्गत आता है, इसलिए PMMY के तहत शुरू की गई माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी (MUDRA) लोन योजना के तहत बकरी पालन के लिए लोन (Goat Farming Loan) बैंकों द्वारा प्रदान नहीं किया जाएगा। बैंकों की मदद से मुद्रा गैर-कृषि क्षेत्र में लगे व्यक्तियों और उद्यमों को सेवा और विनिर्माण क्षेत्रों में आय उत्पन्न करने वाली गतिविधियों के लिए 10 लाख रु. तक का लोन प्रदान करती है। हालांकि, राज्य और केंद्र सरकार ने बकरी पालन को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न लोन योजनाएं और सब्सिडी शुरू की हैं ।

बकरी पालन लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • 4 पासपोर्ट साइज फोटो
  • पिछले 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट
  • ऐड्रेस प्रूफ
  • इनकम प्रूफ
  • आधार कार्ड
  • बीपीएल कार्ड, यदि उपलब्ध हो
  • जाति प्रमाण पत्र, यदि एससी / एसटी / ओबीसी
  • मूल निवासी प्रमाण पत्र
  • बकरी पालन प्रोजेक्ट रिपोर्ट
  • भूमि रजिस्ट्री के दस्तावेज़

विभिन्न बिज़नस लोन या वर्किंग कैपिटल लोन विकल्पों की जांच और तुलना करने के लिए , ग्राहक paisabazaar.com पर जा सकते हैं और उपलब्ध ऑफर में से किसी एक को चुन सकते हैं। लोन राशि या ब्याज दर एक बैंक से दूसरे बैंक में अलग अलग हो सकती है, क्योंकि यह विभिन्न कारकों पर निर्भर करता है, जैसे आवेदक भुगतान क्षमता, क्रेडिट स्कोर, आर्थिक स्थिरता आदि।

संबंधित सवाल

प्रश्न.बकरी पालन योजना के लिए मुझे नाबार्ड लोन कैसे मिल सकता है?
उत्तर: आप बकरी पालन के लिए एक नाबार्ड सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं जो लोगों को अपना व्यवसाय शुरू करने में मदद करने के लिए भारत सरकार द्वारा ऑफर की जाती है। नाबार्ड सब्सिडी केवल तभी उपलब्ध है, जब आप सार्वजानिक बैंक, जैसे एसबीआई, बैंक ऑफ इंडिया और अन्य क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, सहकारी बैंकों से लोन लेते हैं।

प्रश्न.नाबार्ड के अंतर्गत कौन सा बैंक आता है?
उत्तर:
 बैंक के प्रकार जो नाबार्ड योजना के तहत लोन देने के योग्य हैं, वे निम्नलिखित हैं:

  • राष्ट्रीयकृत बैंक
  • कॉमर्शियल बैंक
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • राज्य सहकारी बैंक
  • शहरी बैंक
  • राज्य सहकारी कृषि और ग्रामीण विकास बैंक

Leave a Comment