वाहन प्रदूषण जांच केंद्र कैसे खोले

प्रदूषण जांच केंद्र खोलें और हर महीने 50 हजार रूपये तक की कमाई करें

Contents

प्रदूषण जांच केंद्र क्या है ? ( what is pradusan janch kendra )

प्रदूषण जांच केंद्र के जरिए सभी वाहन मालिक व चालक अपने वाहन का प्रदूषण सर्टिफिकेट बनवा सकते हैं. इस सर्टिफिकेट के जरिए पता चलता है, कि कौन सा वाहन कितना वातावरण को प्रदूषित कर रहा है. वाहन के जितने भी दस्तावेज बनवाने जरूरी है, उनमें से वाहन प्रदूषण सर्टिफिकेट भी है. वाहन प्रदूषण सर्टिफिकेट केवल प्रदूषण जांच केंद्र के जरिए ही बन सकता है, यदि यह महत्वपूर्ण दस्तावेज नहीं होगा, तो आपको सरकार की तरफ से जुर्माना एवं कुछ कानूनी दंड झेलना पड़ सकता है.

कौन खोल सकता है वाहन प्रदूषण जांच केंद्र

भारत सरकार से यदि आप वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए सर्टिफिकेट (License for open pollution check center) ले लेते हैं ! तो कोई भी व्यक्ति वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोल सकता है ! जिनमें से निम्न है

1. Any person
2. A retail outlet of an Oil Company
3.Company
4. An authorized workshop of a vehicle manufacturer
5. Common service center(csc)
6. Trust
7. Firm .

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए जरूरी शर्तें

यदि आप वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलना चाहते हैं, तो कुछ शर्तों के अनुसार आप इसे आसानी से खोल सकते हैं, जो इस प्रकार से निम्नलिखित है.

  • यदि आप नया प्रदूषण जांच केंद्र खोलना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको अपने नजदीकी आरटीओ ऑफिस से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट को प्राप्त करना अनिवार्य है.
  • इस जांच केंद्र को आप किसी भी पेट्रोल पंप ऑटो मोबाइल वर्कशॉप पर बिना किसी रुकावट के खोल सकते हैं.
  • वाहन प्रदूषण जांच केंद्र का लाइसेंस प्राप्त करने के बाद इसे 1 वर्ष उपरांत फिर से रिन्यू करवाना होता है. मतलब अपने इस लाइसेंस को प्रत्येक वर्ष रिन्यू करवाना अनिवार्य है.
  • आपका प्रदूषण जांच केंद्र का केबिन पीले रंग का होना चाहिए. जिसकी लंबाई, चौड़ाई और ऊंचाई क्रमशः 2.5 मीटर, 2 मीटर एवं 2 मीटर होनी आवश्यक है.
  • आपके प्रदूषण जांच केंद्र में आपके लाइसेंस का नंबर दर्ज करना अनिवार्य होता है.
  • आप उचित वाहन चालक व मालिक को अपने केंद्र से प्रदूषण सर्टिफिकेट जारी करेंगे, उसमें आपको सरकार द्वारा प्रदान किए गए स्टीकर को लगाना अनिवार्य होगा.
  • आप जितने भी वाहनों को अपने केंद्र के माध्यम से सर्टिफिकेट जारी करेंगे, उन सभी वाहनों की डिटेल्स को 1 वर्ष तक सुरक्षित रखना अनिवार्य है.
  • प्रदूषण जांच केंद्र का सर्टिफिकेट जिस नाम पर जारी किया जाएगा, केवल वही व्यक्ति वाहन के प्रदूषण की जांच करेगा और वाहन चालक को सर्टिफिकेट प्रदान करने का कार्य करेगा.

Read This >> entrepreneur meaning in hindi

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने में लगने वाले उपकरण

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने से पहले आपको कुछ महत्वपूर्ण उपकरण की आवश्यकता पड़ेगी, जिसका इस्तेमाल करके आप वाहन के प्रदूषण का जांच करेंगे और उसे उसी आधार पर सर्टिफिकेट जारी करेंगे. जानते हैं, आपको प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए कौन-कौन से उपकरण की आवश्यकता पड़ेगी जो इस प्रकार से निम्नलिखित है.

  • एक लैपटॉप या फिर कंप्यूटर की जरूरत पड़ेगी.
  • एक अच्छे स्पीड वाले इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत पड़ेगी.
  • यूएसबी वेब कैमरा की जरूरत पड़ेगी.
  • एक पावर सप्लाई की जरूरत पड़ेगी.
  • आपको स्मोक एनालाइजर की जरूरत पड़ेगी.
  • एक एजेंट प्रिंटर की भी आवश्यकता पड़ेगी.

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए पात्रता  

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए आपके पास कुछ जरूरी सर्टिफिकेट होने चाहिए, तभी आप अपने इस जांच केंद्र को आसानी से ओपन कर सकते हैं अन्यथा आप इसे ओपन करने के लिए अपात्र माने जाएंगे.

  • ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग सर्टिफिकेट
  • मोटर मैकेनिक सर्टिफिकेट
  • ऑटो मैकेनिक्स सर्टिफिकेट
  • स्कूटर मैकेनिक्स सर्टिफिकेट
  • इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट से प्रमाणित सर्टिफिकेट
  • डीजल मैकेनिक्स सर्टिफिकेट

प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया ( pradusan janch kendra registration )

वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने हेतु आपको सबसे पहले अपने केंद्र का लाइसेंस एवं पंजीकरण करवाना आवश्यक होगा. वाहन प्रदूषण केंद्र का लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आपको अपने नजदीकी आरटीओ ऑफिस में जाकर इसके बारे में विवरण देना होगा और रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया आपको पॉल्यूशन टेस्टिंग सेंटर की आधिकारिक वेबसाइट पर मिल जाएगी.

अपने बिज़नेस की शुरुआत करने जा रहे हैं तो उसके लिए जीएसटी नंबर लेने के लिए जीएसटी रजिस्ट्रेशन करवाना आवश्यक है.

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र शुरू कैसे करें ( how start pradusan janch kendra )

  • वाहन प्रदूषण जांच केंद्र शुरू करने के लिए हमें किसी भी प्रकार के ज्यादा निवेश की आवश्यकता नहीं पड़ती. हम इसे बहुत ही न्यूनतम निवेश में आसानी से शुरू करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं.
  • वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने हेतु हमें एक स्थान की जरूरत पड़ती है और उसके साथ ही कुछ उपकरण का सहारा भी हमें इसे खोलने के लिए लेना पड़ता है.
  • इसके बाद हमें अपने क्षेत्र के आरटीओ ऑफिस में जाकर वाहन प्रदूषण जांच केंद्र हेतु लाइसेंस प्राप्त करना है, और इतना करने के बाद अपने प्रदूषण केंद्र को पंजीकृत करने के लिए वाहन प्रदूषण की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर वाहन प्रदूषण केंद्र प्राप्त करने के लिए अपना ऑनलाइन आवेदन करना होगा.

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया

  • वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने के लिए हमें सबसे पहले राष्ट्रीय राजमार्ग परिवहन की आधिकारिक वेबसाइट  पर जाना होगा और फिर वहां पर हमें अपना आवेदन करना होगा.
  • राष्ट्रीय राज्य मार्ग परिवहन के अधिकारी वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने “न्यू ओल्ड पीयूसी सेंटर” नामक एक विकल्प दिखाई देगा, इस पर आपको क्लिक करना होगा.
  • अब यहां पर आपको एक आवेदन फॉर्म मिलेगा, जिसके जरिए आप वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने के लिए आवेदन करेंगे.
  • आपको इस फॉर्म को बड़े ही सावधानी से पूछी जा रही जानकारियों के साथ भरना है. इसे भरने के बाद आपको यहां पर “रजिस्टर्ड’ का एक विकल्प मिलेगा, उस पर आपको क्लिक कर देना है.
  • इतना करने के बाद आपका आवेदन आसानी से पूरा हो जाता है.

वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने में लगने वाली लागत ( pradusan janch kendra investment)

भारत देश के प्रत्येक राज्य में वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने की फीस अलग-अलग निर्धारित की गई है, इसके लिए ज्यादा जानकारी आप अपने नजदीकी आरटीओ ऑफिस से प्राप्त कर सकते हैं ! फुल डिटेल भी आपको आरटीओ ऑफिस से जाकर मिल जाएगी ! कि आपको प्रदूषण जांच केंद्र कैसे खोल सकते हैं ! लगभग में इसकी फीस

1. Application Fees 10000 to 2.5 lakh
2. Renewal fees/year 1000 to 5000 .

वाहन प्रदूषण केंद्र को खोलकर मिलने वाला लाभ ( pradusan janch kendra earning )

यदि आप वाहन प्रदूषण केंद्र खोल लेते हैं, तो आप अपने इस केंद्र के जरिए आसानी से प्रतिदिन के एक से दो हजार रुपए और प्रतिमाह 40 से 50 हजार रूपये आसानी से कमा सकते हैं.

वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने में होने वाला जोखिम ( pradusan janch kendra )

आज के समय में वाहन प्रदूषण केंद्र की मांग लगभग ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है, लिहाजा इस दृष्टिकोण से आप इस व्यवसाय को बड़ी ही आसानी से एवं बिना जोखिम के शुरू कर सकते हैं. यह एक ऐसा व्यवसाय है, जो कभी भी खत्म नहीं होगा और इसकी मांग समय के साथ साथ बढ़ती ही जाएगी.

इस तरह से आप लोगों की वहन सर्टिफिकेट संबंधी परेशानी को कम करके उनकी मदद तो कर ही रहे हैं लेकिन इससे आपको भी काफी फायदा मिल रहा है.

FAQ

Q : वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने के लिए क्या हमने किसी विशेष शिक्षा डिग्री की आवश्यकता पड़ती है ?

Ans : जी नहीं लेकिन आपका इसके लिए ग्रेजुएट होना आवश्यक है.

Q : वाहन प्रदूषण केंद्र कहां पर खोलें ?

Ans : वाहन प्रदूषण केंद्र आप छोटे शहरों एवं बड़े शहरों में कहीं पर भी खोल सकते हैं.

Q : वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने में कितना निवेश करना होगा ?

Ans : मात्र 5 से 10 हजार रुपए तक का.

Q : वाहन प्रदूषण केंद्र खोलकर हम महीने का कितना कमा सकते हैं ?

Ans : 40 से 50 हजार रुपए तक का.

Q : वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने के लिए क्या लाइसेंस एवं पंजीकरण की आवश्यकता पड़ती है ?

Ans : जी हां बिलकुल.

Leave a Comment