मातृशक्ति उद्यमिता योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, लाभ, पात्रता

matrushakti udhmita yojna haryana , Matrushakti Udyamita Yojana Interest Rates , Matrushakti Udyamita Yojana application form

हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना की शुरुआत हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा वर्ष 2022-23 के बजट दौरान की गई है हरियाणा सरकार ने मंगलवार को वित्त वर्ष 2022-23 के लिए 1.77 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया, जबकि 2021-22 में 1.53 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया था। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य विधानसभा में बजट पेश करते हुए महिलाओं के लिए ‘सुषमा स्वराज पुरस्कार‘ की घोषणा की । भाजपा सरकार का आम बजट दूरगामी है। इसमें विकास के नए आयाम स्थापित करने की सोच तो है ही, साथ में महिला, गरीब, किसान, युवा व प्रदेश उत्थान का संकल्प भी है। नारी शक्ति को साधने की कोई कसर नहीं छोड़ी गई है।

वर्ष 2022-23 के लिए 1,77,255.99 करोड़ रुपये का बजट पेश किया, जो चालू वित्त वर्ष के 1,53,384 करोड़ रुपये के बजट के मुकाबले 15.6 प्रतिशत अधिक हैबजट परिव्यय में पूंजीगत व्यय के रूप में 61,057.36 करोड़ रुपये (34.4 प्रतिशत) और राजस्व व्यय के रूप में 1,16,198.36 करोड़ रुपये (65.6 प्रतिशत) शामिल हैं।

मातृशक्ति उद्यमिता योजना 2022

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य विधानसभा में बजट पेश करते हुए महिलाओं के लिए ‘सुषमा स्वराज पुरस्कार’ की घोषणा की। बजट दस्तावेजों के मुताबिक वित्त वर्ष 2022-23 में ऋण देयता 2,43,779 करोड़ रुपये तक जाने की संभावना है, जो मार्च 2022 तक 2,23,768 करोड़ रुपये थी। इस तरह ऋण देयता राज्य के सकल घरेलू उत्पाद का 24.52 प्रतिशत है।

‘सुषमा स्वराज पुरस्कार के तहत पांच लाख रुपये की राशि के साथ एक प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में हरियाणा की महिलाओं ने खेल और राजनीति सहित विभिन्न क्षेत्रों में बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन परिवारों की वार्षिक आय पांच लाख रुपये से कम है, उन परिवारों की महिलाओं को कारोबार शुरू करने के लिए तीन लाख रुपये तक सस्ता कर्ज दिया जाएगा।

हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना 2022 का उद्देश्ये

 हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना का मुख्य उद्देश्ये महिलाओ को पूरी तरह सक्षम और आत्मनिर्भर बनाना है |और उन सभी को आर्थिक सहायता प्रदान भी करना जिससे उन सभी को किसी भी समस्सया का सामना न करना पड़े |उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में हरियाणा की महिलाओं ने खेल और राजनीति सहित विभिन्न क्षेत्रों में बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं।बजट दस्तावेजों के मुताबिक वित्त वर्ष 2022-23 में ऋण देयता 2,43,779 करोड़ रुपये तक जाने की संभावना है, जो मार्च 2022 तक 2,23,768 करोड़ रुपये थी। इस तरह ऋण देयता राज्य के सकल घरेलू उत्पाद का 24.52 प्रतिशत है।

यह पुरस्कार विभिन्न क्षेत्रों में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर महिलाओं को उनके महत्वपूर्ण योगदान या उपलब्धियों के लिए दिया जाएगा।उन्होंने महिलाओं को उद्यमी बनने में सहायता देने के लिए हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना शुरू करने की घोषणा भी की।

Mere Policy Mere Hath Scheme Registration

हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना के लाभ 

 विकास के नए आयाम स्थापित करने की सोच तो है ही, साथ में महिला, गरीब, किसान, युवा व प्रदेश उत्थान का संकल्प भी है।नारी शक्ति को साधने की कोई कसर नहीं छोड़ी गई है।उन्होंने महिलाओं को उद्यमी बनने में सहायता देने के लिए हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना शुरू करने की घोषणा भी की।अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर आधी आबादी को अनेक सौगातें मिलीं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा का 2022-23 का बजट महिलाओं को समर्पित किया।

इस बात को दर्शाता है कि शुरू से ही सदन में महिलाओं का प्रतिनिधित्व रहा है। सदन से अनुरोध है कि पंचायती राज संस्थानों में 50 प्रतिशत प्रतिनिधित्व महिलाओं को देने के लिए सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया जाए।नारी के बिना समाज की कल्पना भी नहीं की जा सकती। हरियाणा की महिलाओं ने राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अनेक क्षेत्रों में अपना परचम लहराया है।

Haryana Matrushakti Udyamita Yojana Highlights  

योजना का नामहरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना
किसके दुवारा शुरू की गईमुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर
उद्देश्येमहिलाओ को शक्षम और आत्मनिर्भर बनाना
लाभार्थीदेश की महिलाए
वर्ष2022
आवेदन प्रकिर्याOnline offline
आधिकारिक वैबसाइटComing soon

Haryana Free Tablet Yojana Apply

हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना 2022 विशेषताए

  • बेटियों को सुरक्षित व सुलभ परिवहन सुविधा के लिए साथी योजना |
  • पुलिस में महिलाओं का प्रतिनिधित्व नौ से 15 प्रतिशत करने के लिए 1000 महिला पुलिसकर्मी भर्ती की जाएंगी
  • 10,000 स्वयं सहायता समूह स्थापित करने का लक्ष्य। 1.80 लाख रुपये से कम आय वाले परिवारों के कर्ज की ब्याज राशि सरकार वहन करेगी लगभग 50,000 परिवारों को लाभ होगा
  • 10,000 स्वयं सहायता समूह स्थापित करने का लक्ष्य। 1.80 लाख रुपये से कम आय वाले परिवारों के कर्ज की ब्याज राशि सरकार वहन करेगी लगभग 50,000 परिवारों को लाभ होगा
  • हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना की घोषणा, सरकार तीन लाख रुपये तक आसान कर्ज दिलाएगी। हरियाणा महिला विकास निगम तीन वर्ष तक ब्याज में सात प्रतिशत तक की छूट देगा।
  • आंगनबाड़ी कर्मियों को दुर्घटना में मृत्यु होने पर दो लाख की जगह तीन लाख रुपये मिलेंगे
  • पीएम मातृ वंदना योजना के तहत गर्भवती व स्तनपान करानी वाली महिलाओं को दूसरे बच्चे पर भी 5000 रुपये मिलेंगे

सरकार का आम बजट दूरगामी है। इसमें विकास के नए आयाम स्थापित करने की सोच तो है ही, साथ में महिला, गरीब, किसान, युवा व प्रदेश उत्थान का संकल्प भी है। नारी शक्ति को साधने की कोई कसर नहीं छोड़ी गई है।अबकी बार वित्तीय प्रबंधन को नई कसौटी पर कसा गया। सार्वजनिक बुनियादी ढांचा और सुविधाएं प्रदान करने के लिए 2,000 करोड़ रुपये का प्रावधान है। हरित विकास उद्देश्यों के लिए जलवायु एवं सतत विकास कोष, वैज्ञानिक गतिविधि और छात्रवृत्ति को बढ़ावा देने के लिए लिए अनुसंधान एवं नवाचार कोष और स्टार्ट-अप की सहायता के लिए उद्यम पूंजी कोष बनाए जाएंगे।

मुख्यमंत्री शतो उद्यमी सारथी योजना

हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना दस्तावेज 

  • लाभार्थी महिला हरयाणा राज्ये की स्थानी निवासी होनी चाहिए |
  • लाभार्थी की आय 5000 तक होनी चाहीये |
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • पॉसपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक पास बुक
  • मोबाइल नंबर

Har hith store Haryana Franchise Registration

हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना 2022 आवेदन प्रकिर्या

Matrushakti Udyamita Yojana registration , जो भी इच्छुक लाभार्थी योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन करना चाहते है |तो उन्हें अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा |क्यूंकि अभी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के  लिए आवेदन प्रकिर्या को आरम्भ नहीं किया  गया है |जैसी ही सरकार आवेदन प्रकिर्या को लेकर कोई भी सुचना जारी करती है हम आपको अपने इस लेख के ज़रिए सुचना प्रकट करते है |

FAQ

मातृशक्ति उद्यमिता योजना क्या है?

मातृ शक्ति उद्यमिता योजना के तहत जिन महिलाओं की आय पांच लाख से कम है और वह उद्यमी बनना चाहती हैं तो सरकार की तरफ से उन्हें 3 लाख रुपये का लोन देने का ऐलान किया.

Q : मातृ शक्ति उद्यमिता योजना के अंतर्गत कौन लोग रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं?

Ans: जिन महिलाओं की आय पांच लाख से कम है और वह उद्यमी बनना चाहती हैं .

Leave a Comment