जाति प्रमाण पत्र ऑनलाइन कैसे बनाए? Caste सर्टिफिकेट के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? How to Apply Online for Caste Certificate 2021

हेलो दोस्तों, How to Apply Online for Uttar Pradesh Caste Certificate? क्या आप अपना जाति प्रमाण पत्र बनवाना चाहते हैं? और इसकी प्रक्रिया की जानकारी ना होने के कारण बनवाने में परेशानी हो रही है। तो अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आज हम इस पोस्ट के जरिए जाति प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया के बारे में सीखेंगे। जाति प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करते हैं? या जाति प्रमाण पत्र ऑनलाइन कैसे बनाते हैं? के बारे में सीखेंगे।

Caste Certificate क्या हैं? Caste Certificate का महत्व क्या हैं? इस प्रमाण पत्र को बनवाने के क्या-क्या फायदे हैं? इत्यादि जैसे जाति प्रमाण पत्र से संबंधित सभी सवालों के जवाब भी आपको इसी पोस्ट में मिल जाएगी। आप इस पोस्ट को ध्यान से पूरा पढ़िए। मुझे उम्मीद है, कि पोस्ट पूरा पढ़ने के बाद आपको कास्ट सर्टिफिकेट से संबंधित सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे।

जाती प्रमाण पत्र क्या हैं? (What is Caste Certificate?)

जाति प्रमाण पत्र किसी व्यक्ति के जाति विशेष को प्रमाणित करने वाला प्रमाण पत्र होता है। यह व्यक्ति के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति या अन्य पिछड़ा वर्ग होने को प्रमाणित करता है। जाति प्रमाण पत्र को अंग्रेजी में कास्ट सर्टिफिकेट (Caste Certificate online apply ) कहते हैं। यह कई स्थानों पर दस्तावेज के रूप में भी कार्य करता है। इस प्रकार जाति प्रमाण पत्र एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज हैं।

जाति प्रमाण पत्र की आवश्यकता स्कूल या कॉलेज में स्कॉलरशिप प्राप्त करने के लिए पड़ती है। इसके अलावा जाति प्रमाण पत्र की आवश्यकता कई स्थानों पर पड़ सकती है जैसे :- सरकारी सेवा में सीटों का आरक्षण लेने, स्कूल या कॉलेजों में दाखिला लेने, एडमिशन फीस में छूट लेने, शैक्षिक संस्था में कोटा, सरकारी नौकरियों में आरक्षण और ऊपरी आयु सीमा की छूट, आदि। लेकिन इन सभी लाभ को प्राप्त करने के लिए व्यक्ति के पास उसका जाति प्रमाण पत्र होना आवश्यक है।

जाति प्रमाण पत्र एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है। आज हम इस पोस्ट में उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करते हैं? के बारे में सीखेंगे। अगर आप किसी दूसरे राज्य से है तो भी आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आपको बस अपने राज्य के ई-डिस्ट्रिक्ट या ई-सेवा पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा, और उसके बाद की पूरी प्रक्रिया यही दोहराई जाएगी। जो इस पोस्ट में नीचे बताए गई है।

जाती प्रमाण पत्र कौन जारी करता हैं? (Who Issues Caste Certificate?)

जाति प्रमाण पत्र राज्य सरकार द्वारा जारी किया जाता है। कोई भी व्यक्ति जाति प्रमाण पत्र के लिए अपने राज्य के ई-डिस्ट्रिक्ट या ई-सेवा पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आसानी से ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। पहले जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिए लोगों को काफी ज्यादा परेशानी होती थी। क्योंकि इसकी प्रक्रिया ऑफलाइन थी। लेकिन अब सरकार ने इसकी उपयोगिता को देखते हुए इसे ऑनलाइन कर दिया है।

पहले लोगों को जाति प्रमाण पत्र बनाने हेतु संबंधित कार्यालय में जाकर लंबी लाइनों के कतारों में लगना पड़ता था। और अपना अधिक समय भी देना पड़ता था। लेकिन अब सरकार द्वारा नागरिकों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए, इसकी प्रक्रिया को और आसान बनाने हेतु इसे ऑनलाइन कर दिया गया है। अब आप अपने घर से ही जाति प्रमाण पत्र के लिए आसानी से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। जाति प्रमाण पत्र एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है। तो चलिए इसके महत्व को जान लेते हैं।

जाती प्रमाण पत्र का महत्व (Importance of Caste Certificate?)

 स्कूल या कॉलेज में दाखिला लेने हेतु।
 स्कूल या कॉलेजों में एडमिशन फीस और मासिक शुल्क में छूट प्राप्त करने हेतु।
 स्कूल या कॉलेजों में सीटों का आरक्षण प्राप्त करने हेतु।
 स्कूल या कॉलेजों में स्कॉलरशिप प्राप्त करने हेतु।
 सरकारी नौकरियों में आरक्षण प्राप्त करने हेतु।
 सरकारी नौकरियों में ऊपरी आयु सीमा की छूट प्राप्त करने हेतु।
 किसी सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने हेतु।

जाती प्रमाण पत्र के फायदे? (Benefits of Caste Certificate?)

जाति प्रमाण पत्र व्यक्ति की जाती जैसे – अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, आदि को प्रमाणित करने वाला प्रमाण पत्र होता है। व्यक्ति को इस प्रमाण पत्र के जरिए बहुत से फायदे होते हैं। अगर व्यक्ति के पास उसका जाति प्रमाण पत्र है, तो वह नौकरी मैं आरक्षण प्राप्त कर सकता है। या नौकरी प्राप्त करने हेतु ऊपरी आयु सीमा में छूट प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा भी इस प्रमाण पत्र के बहुत से फायदे होते हैं।

जाति प्रमाण पत्र के होने से व्यक्ति राज्य सरकार या केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं का लाभ आसानी से प्राप्त कर सकता है। स्कूल या कॉलेजों में भी इस प्रमाण पत्र की काफी ज्यादा मांग है। स्कूल या कॉलेजों में एडमिशन के समय इस प्रमाण पत्र की मांग होती है। इसके अलावा एडमिशन फीस और मासिक शुल्क में छूट प्राप्त करने हेतु इस सर्टिफिकेट की आवश्यकता पड़ती है। शैक्षिक संस्था में आरक्षण कोटा प्राप्त करने के लिए भी इसकी जरूरत पड़ती है।

इसके अलावा विद्यार्थी जाति प्रमाण पत्र के जरिए स्कूल या कॉलेजों में स्कॉलरशिप प्राप्त कर सकते हैं। स्कॉलरशिप प्राप्त करने के लिए जाति प्रमाण पत्र का होना आवश्यक होता है। विभिन्न सरकारी योजना जैसे – प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, उज्ज्वला योजना इत्यादि का लाभ प्राप्त करने के लिए भी कास्ट सर्टिफिकेट यानी जाति प्रमाण पत्र कि जरूरत होती है।

जाती प्रमाण पत्र बनाने हेतु जरूरी दस्तावेज? (Documents Required for Caste Certificate?)

● पते का प्रमाण (Address Proof) – इनमें से कोई एक।
      i) आधार कार्ड (Aadhaar Card)
     ii) वोटर आईडी कार्ड (Voter ID Card)
    iii) ड्राइविंग लाइसेंस (Driving Licence)
    iv) राशन कार्ड (Ration Card)
     v) पासपोर्ट (Passport)
    vi) बैंक अकाउंट पासबुक
   vii) निवास प्रमाण पत्र (Domicile Certificate)
  viii) बिजली या पानी का बिल, इत्यादि।
● 2 पासपोर्ट साइज फोटो

जाती प्रमाण पत्र कैसे बनाये (How to Make Caste Certificate?)

सभी व्यक्ति के लिए जाति प्रमाण पत्र एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है। इसलिए सभी के पास इस दस्तावेज का होना बहुत ज्यादा जरूरी है। अगर अभी तक आप ने जाति प्रमाण पत्र नहीं बनवाया है तो अभी बना लीजिए। क्योंकि इस प्रमाणपत्र के बहुत से फायदे भी होते हैं। जाति प्रमाण पत्र बनाने के दो माध्यम है, ऑफलाइन और ऑनलाइन। दोनों प्रक्रिया हमने नीचे स्टेप बाय स्टेप समझाया है। आप उन स्टेप्स को फॉलो करके आसानी से जाति प्रमाण पत्र बना सकते हैं।

जाती प्रमाण पत्र ऑफलाइन (Offline) कैसे बनाये?

जाति प्रमाण पत्र ऑफलाइन के माध्यम से बनवाने के लिए नीचे दिए गए प्रक्रिया को फॉलो करें :-1) सबसे पहले तहसील, जन सुविधा केंद्र, CSC Center या संबंधित रजिस्ट्रार कार्यालय से जाति पंजीकरण फॉर्म प्राप्त करें।
2) अब पंजीकरण फॉर्म में सभी जानकारी अपने दस्तावेजों के अनुसार सही सही भरे।

3) फॉर्म भरने के बाद सभी जरूरी दस्तावेज की छायाप्रति (Photocopy), फॉर्म के साथ संकलन करें।
4) उसके बाद तहसील, जन सुविधा केंद्र, CSC Center या संबंधित रजिस्ट्रार कार्यालय में जाकर फॉर्म जमा करवा दें।
5) उसके बाद रजिस्ट्रार द्वारा आपके सभी दस्तावेजों की वेरिफिकेशन की जाएगी।
6) सभी रिकॉर्ड वेरीफाई हो जाने के बाद, तहसीलदार द्वारा जाति प्रमाण पत्र आवेदक को जारी कर दिया जाता है।
7) 15 से 20 दिनों तक आवेदक का जाति प्रमाण पत्र बन जाता है। तहसील, जन सुविधा केंद्र, सीएससी सेंटर या संबंधित कार्यालय में जाकर आवेदक जाति प्रमाण पत्र आसानी से प्राप्त कर सकता है।

जाती प्रमाण पत्र ऑनलाइन (Online) कैसे बनाये?

1) सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश ई-साथी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। अगर आप किसी दूसरे राज्य से है, तो आप अपने राज्य की ई-डिस्ट्रिक्ट या ई-सेवा पोर्टल की वेबसाइट पर जा सकते हैं।
2) अब ई-साथी की वेबसाइट पर पंजीकरण करना होगा। अगर आप यहां पर पहले से ही पंजीकृत है, तो अपना यूजर नेम और पासवर्ड डालकर सीधे लॉगिन कर सकते हैं।

3) पंजीकरण करने के बाद आपको यहां लॉग-इन करना है। पहली बार लॉगइन करते वक्त “Change Password” का पेज खुलेगा, जिसमें आपको OTP डालकर नया पासवर्ड बनाना है, और उसके बाद लॉगइन करना है।
4) लॉग इन करने के बाद आपका “डैशबोर्ड” पेज ओपन हो जाएगा। जिसमें आपको “आवेदन भरे” पर क्लिक करना है।
5) अब आपको सेवा चुने के Drop-Down Menu को क्लिक करके “जाति प्रमाण पत्र” सिलेक्ट करना है।
6) उसके बाद आपको “जाति प्रमाण पत्र आवेदन के लिए क्लिक करें” के सामने हिन्दी या इंग्लिश पर क्लिक करना है।

7) अब आपके सामने जाति प्रमाण पत्र का पूरा फॉर्म खुल जाएगा, जिसमें आपको सभी जानकारी पूछे गए निर्देशों के आधार पर अपने दस्तावेजों के अनुसार सही सही भरना है।
8) फॉर्म पूरी तरह से भर जाने के बाद, एक बार फिर से सभी जानकारी का मिलान अपने दस्तावेजों के साथ कर लीजिए। और उसके बाद सभी जानकारी सही होने पर सबसे नीचे “दर्ज करें” पर क्लिक करके फॉर्म को सबमिट कर दीजिए।

9) फॉर्म सबमिट होने के बाद आपको एक एक्नॉलेजमेंट स्लिप (Acknowledgement Slip) मिल जाएगी, जिसका प्रिंट आउट निकाल कर रख सकते हैं, या भविष्य के लिए कहीं सेव कर सकते हैं।
10) अब आपका आवेदन हो गया है, लेकिन इसके बाद आपको सेवा शुल्क का भुगतान भी करना है। सेवा शुल्क का भुगतान ना करने पर, आवेदन स्वीकृत नहीं की जाएगी। इसलिए आवेदन करने के पश्चात सेवा शुल्क का भुगतान अवश्य करें।
11) सेवा शुल्क का भुगतान करने के लिए आपको “सुल्क भरें” पर क्लिक करना हैं।
12) क्लिक करते ही आपके सामने भुगतान का पेज ओपन हो जाएगी। अपने अनुसार डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, इत्यादि से भुगतान कर सकते हैं। सेवा शुल्क का भुगतान, आवेदन करने के 24 घंटे के अंदर होना जरूरी हैं। अन्यथा, आवेदन स्वीकार नहीं किया जाएगा।
13) भुगतान पूर्ण होने के पश्चात आपको “पेमेंट स्लिप” मिल जाएगी। जिसमें आवेदन संख्या और ट्रांसाक्शन नंबर लिखी होती है।
14) अब आपके द्वारा किए गए आवेदन को सम्बंधित अधिकारी के पास आगे की प्रक्रिया के लिए भेजी जाएगी।
15) सभी प्रक्रिया पूर्ण हो जाने और जाति प्रमाण पत्र बन जाने पर, आपके द्वारा दर्ज किए गए मोबाइल नंबर पर SMS के जरिए आपको सूचित कर दिया जाएगा।
16) जिसके बाद आप e-sewa portal के पंजीकृत अकाउंट से अपने जाति प्रमाण पत्र को आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

तो दोस्तों, इस तरह से आप उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र के लिए आसानी से ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही माध्यमों के जरिए आवेदन कर सकते हैं। बताए गए स्टेप्स को फॉलो करके आप आसानी से उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र के लिए अप्लाई कर सकते हैं। दोनों माध्यमों की प्रक्रिया बहुत ही आसान है। हालांकि, ऑफलाइन माध्यम के लिए आपको संबंधित कार्यालय में स्वयं जाना होगा और वहां से फॉर्म लेकर आगे की प्रक्रिया पूरी करनी होगी। मुझे उम्मीद है, आप दोनों ही प्रोसेस सीखे गए होंगे। यहां पर मैंने सिर्फ उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया बताई है। लेकिन आप किसी भी राज्य से हो सभी राज्य के लिए यही प्रक्रिया अपनाई जाएगी। बस आपको अपने राज्य के तहसील, ई-डिस्टिक या ई-सेवा पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा, और उसके बाद की पूरी प्रोसेस यही दोहराई जाएगी।

जाति प्रमाण पत्र ऑनलाइन कैसे चेक करें?

EDISTRICT.UP.NIC.IN Certificate Status. यदि आप अपनी जाति प्रमाण पत्र का स्टेटस चेक करना चाहते हैं तो आप एस EDISTRICT.UP.NIC.IN वेबसाइट पर अपनी सर्टिफिकेट का स्टेटस चेक कर सकते हैं । फिर सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करके आप आवेदन की स्थिति देख सकते हैं।

जाति प्रमाण पत्र बनने में कितना समय लगता है?

इसे सुनेंकोई भी सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किए गए जाति प्रमाणपत्र का सत्यापन चाहता है, तो भविष्य में निर्धारित अवधि 1 से 3 महीने के अंदर उक्त सत्यापन रिपोर्ट को संबंधित को भिजवाया जाना आवश्यक होगा। राजकीय कॉलेज में प्रवेश लेने से लेकर हजाराें युवा जाति प्रमाण पत्र बनवाने है। ये प्रमाण पत्र 6 महीने के लिए बनते है।

जाति प्रमाण पत्र की अवधि कितनी होती है?

अनुसूचित जाति, जनजाति तथा ओबीसी के लिए जारी जाति प्रमाणपत्रों की अवधि जीवनभर होगी।

Jaati Praman patra बनवाने से क्या लाभ प्राप्त होते हैं ?

जाति प्रमाण पत्र बनवाने से सरकार द्वारा जारी योजनाओं में व्यक्ति को आरक्षण, उम्र में छूट, स्कूल, कॉलेजेस में बच्चों को स्कॉलरशिप आदि बहुत सी सुविधाओं के लाभ प्राप्त होते है।

सरकार द्वारा जाति प्रमाण पत्र जारी करने का उद्देश्य क्या है ?

जाति प्रमाण पत्र जारी करने का सरकार का पिछड़े और गरीब परिवार के लोगों की स्थिति में सुधार लाना है, जिससे उन्हें भी समाज के अन्य वर्गों की तरह बराबरी का अधिकार मिल सके और वह भी बहुत से सामाजिक कार्यो में अपनी सहभागिता दे सकें।

Conclusion

तो दोस्तों, अब आप जाती प्रमाण पत्र के बारे में सभी कुछ जान गए होंगे। How to Apply for Uttar Pradesh Caste Certificate in Hindi?, उत्तर प्रदेश जाती प्रमाण पत्र कैसे बनाये?, जाती प्रमाण पत्र के महत्व?, जाती प्रमाण पत्र के फायदे?, इत्यादि। उम्मीद करता हूँ की आपको पोस्ट पसंद आई होगी। और मेरे बताये गए सभी बाते आपको समझ में भी आ गयी होंगी। अगर आपके मन में अभी भी कोई सवाल है, तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है। पोस्ट पसंद आई हो तो प्लीज इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में जरूर शेयर करें। इसके अलावा atmnirbharbharat.info को Follow करके सभी नए पोस्ट की जानकारी लगातार प्राप्त कर सकते है। Thanks / धन्यवाद 

Leave a Comment