OBC OBC बिल 2021 क्या है (OBC Reservation Amendment Bill Passed), आरक्षण, संशोधन2021

OBC Bill 2021 क्या है और इसका लाभ किसे मिलेगा – OBC Reservation Amendment Bill PDF in Hindi

OBC आरक्षण संशोधन बिल 2021 को लोकसभा और राज्यसभा से मंजूरी मिल गई है, अब राष्ट्रपति के हस्ताक्षर से इसे कानून का रूप दे दिया जाएगा. आसान शब्दों में OBC आरक्षण संशोधन बिल समझिए क्या है?

What is OBC Bill in Hindi?

आपको बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा ओबीसी आरक्षण की दिशा में एक बहुत ही बड़ा कदम उठा गया है। लोकसभा में संविधान संशोधन बिल के तहत OBC Reservation Amendment Bill पास किया गया है। यह Obc aarakshan bill अपने आप में एक अनोखा बिल है। सरकार की तरफ से यह बताया गया कि इस बिल के आने के बाद राज्य सरकारों को ओबीसी लिस्ट तैयार करने का अधिकार मिल जाएगा और मराठा आरक्षण जैसे मसलों पर राज्य सरकारें स्वयं फैसला लेने के लिए स्वतंत्र होंगी। कांग्रेस समेत अन्य सभी विपक्षी दलों ने भी इस बिल का समर्थन किया है। साथ ही विपक्षी दलों ने आरक्षण की सीमा 50 फीसदी से बढ़ाने की मांग सदन में रखी है।

नियम के अनुरूप संविधान संशोधन विधेयक के रूप में इसे सदन के कुल सदस्यों की संख्या के बहुमत द्वारा या सभा में उपस्थित एवं मत देने वाले सदस्यों के कम से कम दो तिहाई बहुमत से पारित होना जरूरी था। निचले सदन में सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ वीरेंद्र कुमार ने अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंधित संविधान (127वां संशोधन) विधेयक, 2021’ पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि सदन में इस संविधान संशोधन के पक्ष में सभी दलों के सांसदों से मिला समर्थन स्वागत योग्य है।

OBC Reservation Amendment Bill PDF 2021 Download

बिल का नामसंविधान (127वां संशोधन) विधेयक, 2021
In EnglishThe Constitution (127th Amendment) Bill, 2021
सम्बंधितअन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) से
लोक सभा में बिल पास किया गयामोदी सरकार द्वारा
ड्राफ्ट बिल प्रस्तावित तिथि10 अगस्त 2021
बिल लागू करने की तिथिजल्द ही
उद्देश्यOBC समुदाय को आरक्षण प्रदान करना
लाभ14 से 50 प्रतिशत तक आरक्षण
Languagesहिंदी/ English
Number of Pages5
Size66 KB
OBC Reservation Amendment Bill PDF in HindiDownload Here
आधिकारिक वेबसइटhttp://www.ncbc.nic.in
लेख श्रेणीकेंद्र सरकार योजना

Benefits of OBC Reservation Bill 2021

इस OBC बिल का सबसे ज्यादा लाभ उन समुदाय को मिलेगा, जो अन्य पिछड़ा वर्ग से सम्बंधित है। इसमें मुख्य रूप से मराठा और जाट समुदाय के लोगों को आरक्षण का ज्यादा फायदा मिलेगा। यह विधेयक ओबीसी के हितों को पूरा करने वाला है और इससे प्रत्येक राज्य अपने यहाँ ओबीसी जातियों के संदर्भ में निर्णय ले सकेंगे।

इससे पहले भी OBC Aarakshan Bill का 102वें संशोधन के समय किसी संशोधन का प्रस्ताव नहीं दिया था और ऐसे में कई समुदाय को लाभ इसका सही से लाभ नहीं मिल पाया था। परन्तु अब मराठा आरक्षण के मुद्दे पर केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र सरकार को सशक्त बनाया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वर्तमान विधेयक से राज्य पिछड़ा वर्ग आयोगों को मजबूती मिलेगी और संघीय ढांचा भी मजबूत होगा। इस विधेयक के साथ महाराष्ट्र और दूसरे राज्यों में ओबीसी समुदाय को फायदा मिलेगा।

Important Updates of OBC Reservation Bill 2021:

  1. लोकसभा ने मतविभाजन के जरिये ‘संविधान (127वां संशोधन) विधेयक, 2021’ को मंजूरी दे दी गयी।
  2. सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि जहां तक 50 प्रतिशत आरक्षण की सीमा बढ़ाने की बात की है, सरकार इस भावना को समझती है। कई सदस्यों ने आरक्षण की 50 प्रतिशत की सीमा को बढ़ाने की मांग की है, जिसे कई दशक पहले तय किया गया था।
  3. इस बिल को लेकर कई विपक्षी दलों जैसे कांग्रेस, द्रमुक, समाजवादी पार्टी, शिवसेना सहित कुछ अन्य दलों के सदस्यों ने आरक्षण की 50 प्रतिशत की सीमा को हटाने पर विचार करने की सरकार से मांग की।
  4. साथ ही कई विपक्षी सदस्यों ने जाति आधारित जनगणना कराने की भी मांग की भी की है।
  5. यह विधेयक यह स्पष्ट करने के लिये है कि राज्य सरकार और संघ राज्य क्षेत्र को सामाजिक और शैक्षणिक दृष्टि से पिछड़े वर्गो की स्वयं की राज्य सूची/ संघ राज्य क्षेत्र सूची तैयार करने और उसे बनाये रखने को सशक्त बनाता है.
  6. इसमें कहा गया है कि देश की संघीय संरचना को बनाए रखने के दृष्टिकोण से संविधान के अनुच्छेद 342क का संशोधन करने और अनुच्छेद 338ख एवं अनुच्छेद 366 में संशोधन करने की आवश्यकता है। यह विधेयक उपरोक्त उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण है।
Other Details of OBC Aarakshan Bill 2021 List

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने 5 मई के बहुमत आधारित फैसले की समीक्षा करने की केंद्र की याचिका को खारिज कर दिया था, जिसमें यह कहा गया था कि 102वां संविधान संशोधन (OBC Reservation Amendment Bill) नौकरियों एवं दाखिले में सामाजिक एवं शैक्षणिक रूप से पिछड़े (एसईबीसी) को आरक्षण देने के राज्य के अधिकार को ले लेता है। वर्ष 2018 के 102वें संविधान संशोधन अधिनियम में अनुच्छेद 338 बी जोड़ा गया था, जो राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के ढांचे, कर्तव्यों और शक्तियों से संबंधित है। जबकि 342 ए किसी विशिष्ट जाति को ओबीसी अधिसूचित करने और सूची में बदलाव करने के संसद के अधिकारों से संबंधित है।

FAQ

Q : OBC बिल 2021 क्या है ?

Ans : राज्य सरकारों को अपने राज्य की ओबीसी सूची तैयार करने का अधिकार देना.

Q : OBC बिल में संविधान के किस कानून में सुधार किया गया है ?

Ans : इस बिल के पास होने से संविधान 102 वे कानून में सुधार किया गया है।

Q : OBC बिल को किसने पास किया है ?

Ans : इस बिल को केंद्रीय सरकार ने पास किया है।

Q : ओबीसी बिल में संविधान के किन आर्टिकल्स पर संशोधन किया जा रहा है ?

Ans : इस बिल के पास हो जाने से संविधान के 342A, 338B और 366 आर्टिकल पर संशोधन किया जाएगा।

Q : संसद में कितने ओबीसी सांसद हैं ?

Ans : लगभग 39 %

Q : ओबीसी को कितना आरक्षण प्रदान किया गया है ?

Ans : 50%

Leave a Comment