क्या है प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना और कैसे उठाएं इसका लाभ?

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना ( Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana 2022 ) को 2013 के राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत चलाया जाता है। इस योजना के तहत गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिला व माताओं को ₹6000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यह सहायता राशि सीधे उनके खाते में जाती है।

प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY)

भारत सरकार की योजनाओं की लिस्ट में महिला विशेष एवं किसानो को बहुत अधिक महत्व दिया जाता हैं । अतः महिलाओं के लिए कई योजना शुरू की गई हैं जिनमें से एक प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना हैं । Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana गर्भवती महिलाओं के लिए योजना लाई गई हैं इससे जुड़े कई नियम हैं जो विस्तार से लिखे गए हैं । प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के लिए फॉर्म भरे और उसमे लगने वाले सभी दस्तावेजों की सूची भी बताई गई हैं 

नामप्रधानमंत्री मातृत्व (मातृ) वंदना योजना (Maternity Benefit Scheme)
छोटा नामPMMVY
योजना का ऐलान2016 में प्रधानमंत्री द्वारा
योजना की शुरुवात2017
विभागमहिला एवं बाल विकास
पोर्टलpmmvy-cas.nic.in
लाभ क्या हैंनगद राशि गर्भवती महिलाओं को
कुल राशि6 हजार रुपये
पूर्व संचालित योजनाइन्दिरा गांधी मातृत्व सहयोग
हेल्पलाइन नंबर011-23386423

प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) का उद्देश्य :

काम करने वाली महिलाओं की मजदूरी के नुकसान की भरपाई करने के लिए मुआवजा देना और उनके उचित आराम और पोषण को सुनिश्चित करना। गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के स्वास्थ्य में सुधार और नकदी प्रोत्साहन के माध्यम से अधीन-पोषण के प्रभाव को कम करना।

योजना के लाभ ( Benefit on Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana )

इस योजना से गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को पहले जीवित बच्चे के जन्म के दौरान फायदा होगा। योजना की लाभ राशि DBT के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में सीधे भेज दी जाएगी। रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार निम्नलिखित किश्तों में राशि का भुगतान करेगी।
पहली किस्त: 1000 रुपए गर्भावस्था के पंजीकरण के समय
दूसरी किस्त: 2000 रुपए,यदि लाभार्थी छह महीने की गर्भावस्था के बाद कम से कम एक प्रसवपूर्व जांच कर लेते हैं ।
तीसरी किस्त: 2000 रुपए, जब बच्चे का जन्म पंजीकृत हो जाता है और बच्चे को BCG, OPV, DPT और हेपेटाइटिस-B सहित पहले टीके का चक्र शुरू होता है ।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) निम्न श्रेणी के गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए लागू नहीं होगी।
1. जो केंद्रीय या राज्य सरकार या किसी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम के साथ नियमित रोजगार में हैं।
2. जो किसी अन्य योजना या कानून के तहत समान लाभ प्राप्तकर्ता हैं।

जरूरी दस्तावेज़ कौन से होंगे ? [PMMVY Documents]

आधार कार्ड की फोटोकॉपी

बैंक या पोस्ट ऑफिस खाता की पासबुक

आधार न होने पर पहचान संबंधी अन्य विकल्प

पीचएसी या सरकारी अस्पताल से जारी स्वास्थ्य कार्ड

सरकारी विभाग/कंपनी/संस्थान से जारी कर्मचारी पहचान पत्र

किसे मिलेगा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ

सभी गर्भवती महिलाएं एवं स्तनपान कराने वाली माताएं प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ लेने के लिए पात्र मानी गई हैं।

योजना का लाभ पाने के लिए जरूरी है कि महिला की उम्र 19 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए।

सरकारी कर्मचारी, किसी अन्य कानून से लाभ पा रही प्राइवेट कर्मचारी या फिर पहले सभी किस्तें पा चुकी महिला को इसके लाभ से वंचित रहना होगा। 

आवेदन कैसे करें

“आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का संचालन किया जाता है। महिलाएं वहां जा कर इस योजना के लिए पंजीकरण करा सकती हैं।
स्वास्थ्य सुविधा केंद्रों पर भी इस योजना के लिए पंजीकरण कराया जा सकता है। इसमें आशा कार्यकर्ता मदद करती हैं।”

Leave a Comment