मुलायम सिंह जीवनी : Biography of Mulayam Singh in Hindi , wife , Age, net Worth

Mulayam singh yadav biographymulayam singh yadav news । mulayam singh yadav wife । mulayam singh yadav news । Mulayam singh yadav date of birth । mulayam singh yadav net worth

Mulayam singh yadav biography in hindi

मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवम्बर 1939 को इटावा जिले के सैफई गाँव में मूर्ती देवी व सुघर सिंह के किसान परिवार में हुआ था। मुलायम सिंह अपने पाँच भाई-बहनों में रतनसिंह से छोटे व अभयराम सिंह, शिवपाल सिंह यादव, रामगोपाल सिंह यादव और कमला देवी से बड़े हैं। धरती पुत्र’ उपनाम से मशहूर मुलायम सिंह यादव का शाही जन्म दिन चर्चा का केंद्र बन गया है।

Mulayam Singh Yadav Death News

Source Dainik Jagran

General Information (Mulayam Singh yadav)

रियल नाम:-मुलायम सिंह यादव
जन्म स्थान:-सैफई गाँव , उत्तर प्रदेश, भारत
पेशा:-राजनेता
लिंग:-पुरुष
राष्ट्रीयता:-भारतीय
धर्म:-हिन्दू
ऊंचाई:-5.7 इंच
वजन:-80 किलोग्राम
आंख:-काली
बाल:-काले

Date Of Birth Mulayam Singh

मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवम्बर 1939 को इटावा जिले के सैफई गाँव में मूर्ती देवी व सुघर सिंह के किसान परिवार में हुआ था।

Mulayam singh yadav Age

मुलायम सिंह 83 साल के थे ।

Mulayam singh yadav family

मुलायम सिंह की पहली पत्नी

स्व० मालती देवी

Mulayam singh yadav first wife

mulayam singh yadav first wife

मुलायम सिंह यादव भाई बहन

  • रतनसिंह से छोटे व
  • अभयराम सिंह,
  • शिवपाल सिंह यादव,
  • रामगोपाल सिंह यादव
  • और कमला देवी से बड़े हैं

Mulayam Singh Yadav daughter-in-law

Mulayam Singh Yadav daughter-in-law
Dimple Yadav Mulayam Singh Yadav daughter-in-law

मुलायम सिंह यादव का पूरा परिवार

मुलायम सिंह यादव का पूरा परिवार

First Army Chief Bipin Rawat biography in hindi | बिपिन रावत बायोग्राफी

मुलायम सिंह यादव हिस्ट्री

मुलायम सिंह यादव समाजवादी पार्टी के अगुआ और पार्टी संस्थापक हैं. उन्होंने 4 अक्टूबर 1992 को समाजवादी पार्टी का गठन किया था. अपने राजनीतिक करियर में वह तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी रहे. राजनीति में परिवारवाद को बढ़ावा देने की शुरुआत वैसे तो पं. जवाहरलाल नेहरू ने ही कर दी थी पर लोहिया के चेले कहे जाने वाले मुलायम सिंह ने इसे खूब आगे बढ़ाया. पिछले कुछ वर्षों में जब भी देश में तीसरे मोर्चे की चर्चा होती है, मुलायम सिंह यादव का नाम सबसे पहले लिया जाता है. पेशे से शिक्षक रहे मुलायम सिंह यादव के लिए शिक्षा के क्षेत्र ने राजनीतिक द्वार भी खोले.

1992में उन्होंने समाजवादी पार्टी बनाई। वे तीन बार क्रमशः 5 दिसम्बर 1989 से 24 जनवरी 1991 तक, 5 दिसम्बर 1993 से 3 जून 1996 तक और 29 अगस्त 2003 से 11 मई 2007 तक उत्तर प्रदेश के मुख्य मन्त्री रहे। इसके अतिरिक्त वे केन्द्र सरकार में रक्षा मन्त्री भी रह चुके हैं। उत्तर प्रदेश में यादव समाज के सबसे बड़े नेता के रूप मे मुलायम सिंह की पहचान है। उत्तर प्रदेश मे सामाजिक सद्भाव को बनाए रखने में मुलायम सिंह ने साहसिक योगदान किया। मुलायम सिंह की पहचान एक धर्म निरपेश नेता की है। उत्तर प्रदेश मे उनकी पार्टी समाजवादी पार्टी को सबसे बड़ी पार्टी माना जाता है। उत्तर प्रदेश की जनता मुलायम सिंह को प्यार से नेता जी कहती है।

 2012 मे मुलायम सिंह (Mulayam Singh) की पार्टी समाजवादी पार्टी को उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनाव मे बहुमत मिला। उत्तर प्रदेश की जनता ने नेता जी के विकास कार्यो से प्रभावित होकर उनको सरकार बनाने का जनमत दिया।लोकप्रिया नेता जी ने समाजवादी पार्टी के दूसरे लोकप्रिय नेता अखिलेश यादव को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया.अखिलेश यादव मुलायम सिंह के पुत्र है। अखिलेश यादव ने नेता जी के बताए गये रास्ते पर चलते हुए उत्तर प्रदेश को विकास के पथ पर आगे बढ़ाया।

प्रज्ञानानंद रमेशबाबू बायोग्राफी, (GM Rameshbabu Praggnanandhaa Biography in Hindi)

Mulayam Singh Yadav Political Career

मास्टर मुलायम सिंह चुनाव में खड़े हुए और इलाके के बहुत सारे अध्यापकों और छात्रों के माता पिताओं को पांच पांच रुपए में सदस्य बना कर चुनाव भी जीत गए। उनके साथ बैंक में निदेशक का चुनाव मेरे स्वर्गीय ताऊ जी ठाकुर ज्ञान सिंह भी जीते थे चुनाव के बाद जो जलसा हो रहा था उसमें गोली चल गई। मुलायम सिंह यादव और मेरे ताऊ जी बात कर रहे थे और छोटे कद के थे इसलिए गोली चलाई तो मुलायम सिंह पर गई थी मगर पीछे खड़े एक लंबे आदमी को लगी जो वहीं ढेर हो गया। इस घटना का वर्णन मुलायम सिंह यादव की किसी भी जीवनी में नहीं मिलेगा सहकारी बैंक में उस समय पचास साठ हजार रुपए होंगे। तीन लोगों का स्टाफ था। चपरासी और कैशियर एक ही था।

मैनेजर पार्ट टाइम काम करता था और निदेशकों की तरफ से नियुक्त एक साहब लेखाधिकारी बनाए गए थे जो चूंकि बैंक में सोते भी थे इसलिए चौकीदारी का भत्ता भी उन्हें मिलता था। इसके बाद मुलायम सिंह जसवंत नगर और फिर इटावा की सहकारी बैंक के निदेशक चुने गए। विधायक का चुनाव भी सोशलिस्ट पार्टी और फिर प्रजा सोशलिस्ट पार्टी से लड़ा और एक बार जीते भी।स्कूल से इस्तीफा दे दिया था। पहली बार मंत्री बनने के लिए मुलायम सिंह यादव को 1977 तक इंतजार करना पड़ा जब कांग्रेस विरोधी लहर में उत्तर प्रदेश में भी जनता सरकार बनी थी।

केंद्रीय राजनीति :

केंद्रीय राजनीति में मुलायम सिंह का प्रवेश 1996 में हुआ, जब काँग्रेस पार्टी को हरा कर संयुक्त मोर्चा ने सरकार बनाई। एच. डी. देवेगौडा के नेतृत्व वाली इस सरकार में वह रक्षामंत्री बनाए गए थे, किंतु यह सरकार भी ज़्यादा दिन चल नहीं पाई और तीन साल में भारत को दो प्रधानमंत्री देने के बाद सत्ता से बाहर हो गई। ‘भारतीय जनता पार्टी’ के साथ उनकी विमुखता से लगता था, वह काँग्रेस के नज़दीक होंगे, लेकिन 1999 में उनके समर्थन का आश्वासन ना मिलने पर काँग्रेस सरकार बनाने में असफल रही और दोनों पार्टियों के संबंधों में कड़वाहट पैदा हो गई। 2002 के उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने 391 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए, जबकि 1996 के चुनाव में उसने केवल 281 सीटों पर ही चुनाव लड़ा था।

CDS अनिल चौहान का जीवन परिचय ( Lt. Gen Anil Chauhan Biography, Cast, Village)

राजनीतिक दर्शन तथा विदेश यात्रा :

मुलायम सिंह यादव की राष्ट्रवाद, लोकतंत्र, समाजवाद और धर्मनिरपेक्षता के सिद्धान्तों में अटूट आस्था रही है। भारतीय भाषाओं, भारतीय संस्कृति और शोषित पीड़ित वर्गों के हितों के लिए उनका अनवरत संघर्ष जारी रहा है। उन्होंने ब्रिटेन, रूस, फ्रांस, जर्मनी, स्विटजरलैण्ड, पोलैंड और नेपाल आदि देशों की भी यात्राएँ की हैं। लोकसभा सदस्य कहा जाता है कि मुलायम सिंह उत्तर प्रदेश की किसी भी जनसभा में कम से कम पचास लोगों को नाम लेकर मंच पर बुला सकते हैं। समाजवाद के फ़्राँसीसी पुरोधा ‘कॉम डी सिमॉन’ की अभिजात्यवर्गीय पृष्ठभूमि के विपरीत उनका भारतीय संस्करण केंद्रीय भारत के कभी निपट गाँव रहे सैंफई के अखाड़े में तैयार हुआ है। वहाँ उन्होंने पहलवानी के साथ ही राजनीति के पैंतरे भी सीखे।

mulayam singh yadav movie

Main Mulayam Singh Yadav (2021)

मुलायम सिंह कितनी बार मुख्यमंत्री बने

३ बार मुख्यमंत्री बने

मुलायम सिंह यादव का मोबाइल नंबर

FAQ

मुलायम सिंह यादव के पिता क्या करते थे?
सुघर सिंह

मुलायम सिंह यादव के पिता क्या करते थे?

किसान

मुलायम सिंह यादव का गोत्र क्या है?

कमरिया अथवा कमरीया यादव जाति का गोत्र है। कमरिया खुदको कृष्ण अवतार के यादव वंशज मानते हैं।

मुलायम सिंह यादव का जन्म कहाँ हुआ था?

सैफ़ई भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के इटावा ज़िले में स्थित एक बड़ा गाँव व कस्बा है। यह एक तहसील और विकास खंड के साथ साथ पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का जन्मस्थान भी है

मुलायम सिंह यादव की माता का क्या नाम है?

मूर्ती देवी

साधना गुप्ता के पति कौन थे?

मुलायम सिंह

मुलायम सिंह की शादी कब हुई थी?

23 मई 2003 (साधना गुप्ता)

मुलायम सिंह यादव का फोटोमुलायम सिंह यादव के कितने बच्चे हैं ?

अखिलेश यादव और प्रतीक यादव

Leave a Comment