(NPCSCB) Mission Karmayogi : मिशन कर्मयोगी योजना 2022 लक्ष्य, उद्देश्य व लाभ

पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग में सिविल सेवकों के लिए मिशन कर्मयोगी योजना को मंजूरी दी गयी है.

मिशन कर्मयोगी योजना क्या है?

मिशन कर्मयोगी का उद्देश्य व्यक्तिगत सरकारी बाबुओं की क्षमता निर्माण के साथ-साथ संस्थागत क्षमता निर्माण पर ध्यान देना है. कर्मयोगी मिशन योजना सरकारी अधिकारियों को खास ट्रेनिंग देकर अधिकारियों की क्षमता को बढ़ाने की सबसे बड़ी योजना है.

नेशनल प्रोग्राम फॉर सिविल सर्विसेज कैपेसिटी बिल्डिंग के तहत मिशन कर्मयोगी को चलाया जाएगा.

मिशन कर्मयोगी योजना बजट क्या है ?

Mission Karmayogi Scheme budget :मिशन पर योगी योजना के लिए सरकार द्वारा 5 वर्षों की अवधि के लिए 510.86 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

Key Highlights Of  Mission Karmayogi Yojana 2022

आर्टिकल किसके बारे में हैमिशन कर्मयोगी योजना
किस ने लांच कियाभारत सरकार
लाभार्थीसरकारी कर्मचारी
उद्देश्यकर्मचारियों का कौशल विकास करना।
साल2020
Karmayogi Yojana 2021

मिशन कर्मयोगी योजना का उद्देश्य

मिशन कर्मयोगी योजना का मुख्य उद्देश्य सरकारी कर्मचारियों की क्षमताओं को विकसित करना है। इसके लिए सरकार द्वारा कई सारे संशोधन किए जाएंगे। जैसे कि कर्मचारियों को ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी, ई लर्निंग कंटेंट प्रदान किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से सरकारी कर्मचारियों की कार्य क्षमता को बढ़ाया जाएगा।

कर्मयोगी योजना मिशन के अंतर्गत किन कौशल को विकसित किया जाएगा

Mission Karmayogi Yojana 2021 के अंतर्गत सरकारी कर्मचारियों के कौशल विकास करने पर ध्यान दिया जाएगा। इस योजना के माध्यम से कर्मचारियों के कई सारे कौशलों को विकसित किया जाएगा। जिसमें से कुछ इस प्रकार है।

  •  क्रिएटिविटी
  • कल्पनाशीलता
  • इनोवेटिव
  • प्रोएक्टिव
  • प्रगतिशील
  •  ऊर्जावान
  • सक्षम
  • पारदर्शी
  • तकनीकी तौर पर दक्ष आदि।

मिशन कर्मयोगी योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • मिशन कर्मयोगी योजना का आरंभ 2 सितंबर 2020 को किया गया है।
  • इस योजना का संचालन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में किया जाएगा।
  • मिशन कर्मयोगी योजना के माध्यम से सिविल अधिकारियों की क्षमता बढ़ाने का ट्रेनिंग के माध्यम से प्रयास किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत ऑन द साइड ट्रेनिंग पर अधिक ध्यान दिया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से प्रणाली में पारदर्शिता आएगी तथा अधिकारियों के काम करने की शैली में भी सुधार आएगा।
  • Mission Karmayogi Yojana 2021 के दो मार्ग होंगे सर्व चलित तथा निर्देशित।
  • इस योजना में पीएम नरेंद्र मोदी के साथ एक नई एचआर परिषद, चयनित केंद्रीय मंत्री तथा मुख्यमंत्री शामिल होंगे।
  • योजना के सफलतापूर्वक संचालन के लिए iGOT कर्मयोगी प्लेटफार्म का भी गठन किया गया है ल। जिसके माध्यम से ऑनलाइन कांटेक्ट उपलब्ध कराया जाएगा।
  • मिशन कर्मयोगी योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा 5 वर्षों के लिए 510.86 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया गया है।
  • यह योजना लगभग 46 लाख केंद्रीय कर्मचारियों के लिए हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत एक स्वामित्व वाली विशेष परियोजना वाहन कंपनी का गठन किया जाएगा। जो iGOT कर्मयोगी की प्लेटफार्म का स्वामित्व और प्रावधान करेगी।
  • मिशन कर्मियों की योजना के अंतर्गत कई सारी स्किल डेवलप की जाएगी जैसे कि क्रिएटिविटी, कल्पनाशीलता, इनोवेटिव,  प्रगतिशील, ऊर्जावान, पारदर्शिता आदि

iGOT कर्मयोगी प्लेटफार्म :

मिशन कर्मियों की योजना 2022

iGOT कर्मयोगी प्लेटफार्म

निम्नलिखित दिए गए बिंदु iGOT कर्मयोगी प्लेटफार्म को परिभाषित करते हैं। कृपया ध्यानपूर्वक पढ़ें।

  • iGOT कर्मयोगी प्लेटफॉर्म के माध्यम से डिजिटल लर्निंग सामग्री प्राप्त करवाई जाएगी ताकि सरकारी विभागों में कार्यरत सरकारी अधिकारी और कर्मचारियों को बेहतर प्लेटफार्म उपलब्ध हो पाए।
  • इस iGOT कर्मयोगी प्लेटफार्म को एक ई लर्निंग सामग्री के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अध्यक्षता में विश्व स्तरीय बाजार बनाने का भी प्रयास किया जा रहा है।
  • iGOT कर्मयोगी के माध्यम से कर्मचारियों का क्षमता निर्माण ई लर्निंग कांटेक्ट यानी उनको ऑन द साइट कंटेंट के माध्यम से कराया जाएगा।
  • साथ ही सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों को ट्रैनिंग के लिए अन्य सुविधाएं प्राप्त कराई जाएंगी।
  • निम्नलिखित सुविधाएं सरकारी कर्मचारियों अधिकारियों को मिशन कर्म योगी योजना 2021 के अंतर्गत प्रदान की जाएंगी जैसे कि –
    • परिवीक्षा अवधि के बाद की पुष्टि,
    • तैनाती,
    • कार्य निर्धारण,
    • रिक्तियों की अधिसूचना आदि।

हेल्पलाइन एवं संपर्क

MISSION KARMAYOGI से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी हेतु आप इन संपर्कों पर संपर्क कर सकते है।

For any query please write to : support@i-got.freshdesk.com

FAQ

मिशन कर्मयोगी से जुडी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

मिशन कर्मयोगी से जुडी आधिकारिक वेबसाइट अभी लांच नहीं की गयी है।

प्रशिक्षण के लिए कितना बजट निर्धारित किया गया है ?

इस योजना के लिए 5 वर्ष तक बजट निर्धारित किया गया है। जो की 510.86 करोड़ रूपये हैं।

Conclusion

प्रिय पाठकों, हमने आपको इस लेख के माध्यम से मिशन कर्मियों की योजना 2021 के अंतर्गत आने वाली सभी जानकारी विस्तार पूर्वक प्रदान की। साथ ही हमने आपको बताया कि मिशन कर्मियों की योजना 2021 के क्या लाभ हैं, क्या इसकी खासियत है,किस तरह मिशन कर्म योगी योजना 2021 सरकार द्वारा संचालित किया जाता है,

इसके अंतर्गत सरकार कितना बजट निर्धारित करती है, मिशन कर्मियों की योजना की क्या उद्देश्य है इत्यादि सभी जानकारी हमने आपको बताई। धन्यवाद।

Leave a Comment