ग्रामीण भंडारण योजना 2022 । Warehouse Subsidy Scheme

Gramin Bhandaran Yojana 2022 केंद्रीय सरकारी योजना है जिसका संचालन नाबार्ड (National Bank for Agriculture and Rural Development) के द्वारा संचालित किया जाता है । इसलिए इस योजना को NABARD Warehouse Scheme और Rural Godown Scheme 2022 के नाम से भी जाना जाता है|

Gramin Bhandaran Yojana

Gramin Bhandaran Yojana 2022 हमारे देश का हर किसान आर्थिक रूप से इतना समर्थ नहीं होता की वह अपनी उपज के संग्रह के लिए किसी संग्रह स्थान का निर्माण कर सके। इसलिए 2002 मे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी किसानो की इस जरूरत को पूरा करने के ग्रामीण भंडारण योजना शुरुआत की । Gramin Bhandaran Yojana 2022 का मुख्य उद्देश्य कृषि उत्पादो के भंडारण के लिए गोदाम निर्माण के लिए ऋण प्रदान करना है।

ग्रामीण भंडारण योजना का उद्देश्य (Objective of rural storage scheme) :

1. कृषि उपज और संसाधित कृषि उत्पादों के भंडारण की किसानो की जरुरतो को पूरा करना ।
2. गाँवो मे वैज्ञानिक भंडारण की क्षमता का निर्माण करना ।
3. मानकीकरण और गुणवत्ता को बढ़ावा देना।
4. भंडारण की व्यवस्था ना होने से किसानो के फसल काटते ही बेचने की मजबूरी को समाप्त करना ।
5. देश में भंडारण की व्यवस्था से किसानो की लागत को कम करना।
6. ग्रामीण भंडारण योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की फसल को सुरक्षित करना है।

Gramin Bhandaran Scheme 2022 के लाभ :

सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत करने से किसानो को काफी लाभ हुआ है, योजना के शुरुआत से ही कस्बों से लेकर गाँवो में गोदामों का जाल सा फ़ैल गया है।  जिनमे किसान अपनी फसल को रखकर बर्बाद होने से बचा सकते है और बाजारों में उचित दाम आने तक सुरक्षित रख सकते है ।

ग्रामीण वेयर हाउस योजना को कौन शुरु कर सकता है ? Gramin warehouse scheme 2022

ग्रामीण गोदाम के निर्माण की परियोजना देशभर में किसी भी व्‍यक्ति, किसान, उत्‍पादक समूह, प्रतिष्‍ठान, गैर सरकारी संगठन, स्‍वयं सहायता समूहों ,कम्पनियां, निगम, सहकारी संगठन, परिसंघ और कृषि उपज विपणन समिति द्वारा भी शुरू की जा सकती है।

Gramin Bhandaran Yojana 2022 के अंतर्गत लोन की व्यवस्था :

योजना के माध्यम से सरकार ने Loan की भी व्यवस्था की है ताकि वे उत्पादों के भंडारण के लिए गोदामों का निर्माण करा सके। और मुख्य बात यह है कि सरकार की तरफ से जो लोन मंजूर किया जाता है उस पर सब्सिडी भी दी जाएगी।

Gramin Bhandaran Yojana 2022 गोदाम की स्थापना के लिए लोकेशन, आकार और क्षमता :

1. इस कार्यक्रम के अंतर्गत उदयमी अपने वाणिज्यिक निर्णय के अनुसार किसी भी स्‍थान पर गोदाम का निर्माण कर सकता है |
2. गोदाम का स्थान नगर निगम ( म्युनिसिपल) की सीमाओं से बाहर होना चाहिए |
3. व्यक्ति अपने खुद की जमीन पर भी गोदाम का निर्माण कर सकता है |

गोदाम का आकर/क्षमता कैसा होना चाहिए ?

वैसे तो इसका आकर उदयमी निश्चित कर सकता है लेकिन सब्सिडी प्राप्‍त करने के लिए गोदाम की क्षमता न्यूनतम 100 टन से लेकर 30 हजार टन तक होनी चाहिए। 50 टन क्षमता तक के ग्रामीण गोदाम भी इस कार्यक्रम के अंतर्गत सब्सिडी का लाभ उठा सकते है |

  • गोदाम की न्यूनतम क्षमता : 50 मेट्रिक टन
  • अधिकतम क्षमता : 10,000 मेट्रिक टन
  • ऊंचाई : 15 से 20 फुट होनी चाहिए
  • गोदाम को क्षमता : 1 घन मीटर क्षेत्र 0-4 मेट्रिक टन की गणना का पैमाना

वैज्ञानिक भंडारण के लिए शर्तें :

1. पक्षियों से सुरक्षा जाली वाली खिड़कियां होनी चाहिए
2. सुगम पक्की सड़के / पक्की आंतरिक सड़के
3. जल निकालने की समुचित व्यवस्था
4. अग्नि शामक यंत्र
5. सामान रखने/ उतारने की उचित व्यवस्था
6. कीटाणुओं से सुरक्षा की व्यवस्था
7.CPWD/SPWD(केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ) के निर्देशाशानुसार गोदाम का निर्माण हुआ होना चाहिए
8. प्रभावी धूम्रीकरण फयूमीगेशन के लिए दरवाजे/खिड़कियां की वायु अवरोधकता की व्यवस्था

NABARD Gramin Bhandaran Loan Scheme 2022 :

1. इस योजना के अंतर्गत जो भी किसानों को गोदामों में अपनी फसल पर फसल गिरवी रख कर वायदा Loan प्राप्त करने के पात्र समझा जाएगा |
2. वायदा ऋणों के नियम और शर्तो के अनुसार ब्याज दर गिरवी रखने का समय , राशि का मूल्य निर्धारण NABARD के माध्यम से जारी
निर्देश और वित्तीय संस्थानों द्वारा जो अपनाई जाने वाली सामान्य Banking पद्धतिओं के अनुसार किया जाएगा |
3. योजना के अंतर्गत Subsidy, Loan से सम्बंधित होगी तथा इसे सिर्फ परियोजना (Projects) के लिए दी जाएगी
4. वाणिज्यिक बैंक, ग्रामीण बैंक, राज्य सहकारी बैंकों , राज्य सहकारी कृषि और ग्रामीण विकास योजना (Rural Development Scheme)
कृषि वित्त निगमों शहरी सहकारी बैंकों इत्यादि वित्त पोषित की गई हो |
5. योजना के अंतर्गत ऋण वापस करने का समय 11 वर्ष है |

योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सब्सिडी :

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के तहत किसानो को सब्सिडी भी दी जाएगी तथा योजना के तहत अनुसूचित जाति/जनजाति
उद्यमियो और इन समुदायों से सम्बन्धित सरकारी संगठनों तथा पूर्वोत्तर राज्यों, पर्वतीय क्षेत्रों में निर्माण के लिए पूंजी लागत की एक तिहाई रकम सब्सिडी के रूप में दी जाएगी।

किसानों को सभी श्रेणियों, कृषि स्‍नातकों तथा सहकारी संगठनों से सम्‍बद्ध सम्पूर्ण परियोजना की पूंजी लागत पूंजी का 25% Subsidy के रूप में दी जाएगी जिसकी अधिकतम सीमा 2.25 करोड़ रुपये होगी।

अन्य सभी श्रेणियों के लोगो, कंपनियों और निगमों आदि को प्रोजेक्ट की रकम से 15% सब्सिडी दी जाएगी जिसकी अधिकतम सीमा 1.35 करोड़ रुपये होगी |

इसके अलावा राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (National Cooperative Development Corporation) की मदद से की जा रही गोदामों की मरम्मत की लागत की 25 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी |

नाबार्ड ग्रामीण भंडारण योजना ( Rural storage scheme) से सम्बन्धित अधिक जानकारी के लिए आप nabard.org पर जाकर देख सकते है .

Read This Gobar paint training and factory

Rural storage scheme Contact Details :

Directorate of Marketing & Inspection
  • Tel. :- 0129-2434348
  • E-mail :- rgs-agri@nic.in
National Bank for Agriculture & Rural Development (NABARD)
  • Tel. :- 022-26539350
  • E-mail :- icd@nabard.org
National Cooperative Development Corporation (NCDC)
  • Tel. :- 011-26565170
  • E-mail :- nksuri@ncdc.in

Gramin Bhandaran Yojana: इस योजना से सम्बन्धित किसी भी  प्रकार की अन्य जानकारी के लिए आप हमें कमेंट बॉक्स में लिख कर सहायता प्राप्त कर सकते है . और यह जानकारी आपको कैसी लगी वो भी अवश्य बतलाये . सरकारी योजनाए और बिज़नेस आइडियाज की जानकारी जो आपको सफल और आत्मनिर्भरभारत बनाने के लिए आत्मनिर्भरभारत पोर्टल को फॉलो करे .धन्यवाद

1 thought on “ग्रामीण भंडारण योजना 2022 । Warehouse Subsidy Scheme”

  1. Bahut bahut auchi LAGI hai lakin muze bhi wheare house Bena hai 6000 fit Ka to my
    muze bhi subsidi milegi ky

    Reply

Leave a Comment