गोबर-धन योजना 2022: GOBAR Dhan yojna 2022


gobardhan yojana full form , gobar dhan yojana application form , gobar dhan yojana online registration ,gobar-dhan scheme launched in which state , gobar dhan yojana rajasthan ,gobar-dhan yojana launch date , gobar dhan yojana registration

गोबर-धन योजना को शुरू करने की घोषणा  पहली बार तत्कालीन एफएम अरुण जेटली ने 1 फरवरी 2018 को थी जिसको अब केंद्र सरकार के सहयोग से सुचारु रूप से आगे बढ़ाया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत देश के किसानो से गोबर और फसल अवशेषों को उचित दाम पर ख़रीदा जायेगा और इस योजना के तहत पशुओ  के मल ,गोबर अथवा खेतों के ठोस अपशिष्ट पदार्थ जैसे कि भूसा , पत्ते इत्यादि को कंपोस्ट, बायोगैस या बायो सीएनजी में परिवर्तित किया जायेगा।प्यारे दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस GOBAR- Dhan Yojana 2022 से जुडी सभी जानकारी जैसे पात्रता ,दस्तावेज़ ,आवेदन प्रक्रिया आदि प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े और योजना का लाभ उठाये।

]toc]

GOBAR- Dhan Yojana 2022  

इस योजना को गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज धन योजना की कहा जाता है। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा देश के प्रत्येक ज़िले का एक गांव चुना जायेगा और प्रत्येक ज़िले में एक क्लस्टर का निर्माण करते हुए लगभग 700 क्लस्टर्स स्थापित किये जायेगे। GOBAR- Dhan Yojana 2022 के माध्यम से देश के किसानों और उनके परिवारों को आर्थिक और संसाधन लाभ भी प्रदान किया जायेगा साथ ही एक स्वच्छ गाँव बनाने का भी समर्थन करेगा। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकारु और राज्य सरकार दोनों 60 व 40 के अनुपात से फंड उपलब्ध  कराएगी। देश के जो किसान इस योजना का हिस्सा बनना चाहते है तथा अपनी आर्थिक स्थिति को सुधारना चाहते है तो उन्हें योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

गोबर-धन योजना 2022 का उद्देश्य

जैसे की आप सभी लोग जानते है देश में बहुत अस्वच्छता फैली हुई है जिसका सबसे बड़ा उदाहरण है ग्रामीण क्षेत्र।  गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज धन योजना 2022 के ज़रिये स्वच्छ गाँव बनाने में  समर्थन दिया जायेगा  जो स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) का उद्देश्य है।इस योजना के ज़रिये उद्यमियों को जैविक खाद, बायोगैस / बायो-CNG उत्पादन के लिये गाँवों के क्लस्टर्स बनाकर इनमें पशुओं का गोबर और ठोस अपशिष्टों के एकत्रीकरण और संग्रहण को बढ़ावा देना है। इस योजना के अंतर्गत अब किसानो के पशुपो का गोबर लेकर बायोगैस में परिवर्तित किया जायेगा इस  स्वच्छ जैव गैस ईंधन से ग्रामीण लोगों और विशेष रूप से महिलाये लाभान्वित होगी। इस योजना के माध्यम से देश की किसानो की आय भी दुगुनी होगी। इस योजना का उद्देश्य देश को स्वच्छ रखना।इस योजना के ज़रिये ग्रामीण क्षेत्रो के किसानो को आत्मनिर्भर बनाया  जा सकेगा।

गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज धन योजना के लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत पशुओं के मल अथवा खेतों के ठोस अपशिष्ट पदार्थ जैसे कि भूसा , पत्ते इत्यादि को कंपोस्ट, बायोगैस या बायो सीएनजी बनाने के लिए उपयोग किया जायेगा।
  • गोबर-धन योजना 2022 का लाभ देश के ग्रामीण क्षेत्रो के किसानो को पहुंचाया जायेगा।
  • देश में इस योजना के आरम्भ होने से प्रदुषण काम होगा और किसानो की आय में भी बढ़ोतरी होगी।
  • इस योजना के तहत किसानो से उनके पशुओ का गोबर और खेतो के ठोस अपशिष्ट पदार्थो को खरीदकर  बायोगैस में परिवर्तित किया जायेगा।
  • किसानो की आय दुगुनी करने के लिए केंद्र सरकार ने गोबर-धन योजना 2022 के तहत एक ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया है जिस पर ग्रामीण क्षेत्रो के किसानो को  पंजीकरण करना होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रो में गोबर से बायोगैस प्लांट व्यक्तिगत, सामुदायिक, सेल्फ हेल्प ग्रुप या गोशाला जैसे एनजीओ के स्तर पर स्थापित किए जा सकते हैं।

Gobar  Dhan Yojana 2022 की विशेषताएं

  • गांव के किसान अपने खेतों में इस ठोस कचरे और गोबर का उपयोग कर सकते हैं और इसे खाद, उर्वरक, जैव-गैस और जैव-ईंधन के रूप में भी उपयोग कर सकते हैं।
  • केंद्र सरकार ने गांवों में विभिन्न स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र खोलने, ग्रामीण व्यापार केंद्रों के लिए बुनियादी ढांचे में सुधार, गांवों और शहरों के बीच बेहतर संपर्क और उच्च शिक्षा के लिए केंद्र बनाने के लिए अन्य निर्णय भी ले रही है।
  • केंद्र सरकार के इस कदम से ग्रामीण क्षेत्रो में भी स्वच्छता देखने को मिलेगी जिससे बीमारिया कम होगी। और पशुओं और अन्य प्रकार के जैविक अपशिष्ट से अतिरिक्त आय तथा ऊर्जा उत्पन्न होगी।
  • इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार ने 115 जिलों की पहचान की है जिसमे विभिन्न सामाजिक सेवाओं में निवेश किया जायेगा और उन्हें रोल मॉडल के रूप में विकसित किया जायेगा।

गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज (GOBAR- Dhan) धन योजना के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक देश के ग्रामीण क्षेत्रो का होना चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत केवल किसानो को ही पात्र माना जायेगा।
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

गोबर-धन योजना 2022 में ऑनलाइन आवेदन कैसे ?

देश के जो ग्रामीण क्षेत्रो के इच्छुक लाभार्थी गोबर-धन योजना 2022 के अंतर्गत  आवेदन करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे और योजना का लाभ उठाये।

  • सर्वप्रथम आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आपको एप्लीकेशन फॉर्म दिखाई देगा आपको इस एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे पर्सनल डिटेल्स , एड्रेस  डिटेल्स , रजिस्ट्रेशन  डिटेल्स आदि भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा। सबमिट के बटन पर क्लिक करने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जायेगा।
  • इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन संख्या प्राप्त होगी जिसको आपको भविष्य के लिए सुरक्षित रखना होगा।

गोबर-धन योजना 2022 लॉगिन कैसे करे ?

  • सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा। इस होम पेज पर आपको लॉगिन का लिंक दिखाई देगा।
  • आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा। लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा। इस पेज पर आपको लॉगिन फॉर्म दिखाई देगा।
  • आपको इस लॉगिन फॉर्म में यूजरनाम और पासवर्ड आदि भरना होगा और कैप्चा कोड डालकर लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा। इस तरह आपका लॉगिन हो जायेगा।

Leave a Comment