शुरू करें बिजनेस : इन 3 योजनाओं से बनें आत्मनिर्भर, मिलेगी लाखों रु की मदद

Aatmnirbharbharat Schemes in Hindi मोदी सरकार ने लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। सरकार का मकसद लोगों की कारोबार शुरू करने में मदद करना है। इसके लिए उन्हें आर्थिक मदद दी जाती है। आप भी मोदी सरकार की इन स्कीमों का फायदा उठा सकते हैं। बता दें कि बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए मोदी सरकार ने नियम भी आसान किए हैं। आप छोटे से छोटे बिजनेस के लिए भी सरकार से मदद ले सकते हैं। यहां हम आपको ऐसी ही तीन स्कीमों की जानकारी देंगे, जिनके तहत आप सरकार से आर्थिकक मदद लेकर आत्मनिर्भर बन सकते हैं। आपको अपना बिजनेस शुरू करने के लिए काफी आसानी होगी।

मुद्रा योजना इस लिस्ट में पहला नंबर है प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का। मुद्रा (MUDRA) यानी माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट रीफाइनेंस एजेंसी। इस योजना की शुरुआत 5 साल पहले अप्रैल 2015 में की गई थी। इस योजना के तहत आपको अपना बिजनेस शुरू करने या फिर उसका विस्तार करने के लिए लोन मिल सकता है। ये मोदी सरकार की बहुत जबरदस्त स्कीम है, जिससे जरिए 10 लाख रु तक का बिजनेस लोन लिया जा सकता है। बता दें कि मुद्रा योजना के तहत 3 कैटेगरी में लोन मिलता है, जिनमें शिशु, किशोर और तरुण शामिल हैं। शिशु लोन में 50000 रु, किशोर में 50000 रु से 5 लाख रु और तरुण कैटेगरी में 10 लाख रु तक का लोन मिलता है।

लोन न मिले तो क्या करें अगर आपको इस योजना के तहत लोन मिलने में दिक्कत होती है तो आपके इसकी शिकायत भी कर सकते हैं। आप 1800-180-1111 और 1800-11-0001 पर कॉल कर सकते हैं। इन पर देश भर में कहीं से भी शिकायत की जा सकती है। वहीं कुछ राज्यों के स्पेशल नंबर हैं। इनमें उत्तर प्रदेश (18001027788), उत्तराखंड (18001804167), बिहार (18003456195), छत्तीसगढ़ (18002334358), हरियाणा (18001802222), हिमाचल प्रदेश (18001802222) झारखंड (18003456576), राजस्थान (18001806546), मध्य प्रदेश (18002334035) और महाराष्ट्र (18001022636) शामिल हैं।

पीएम स्वनिधि योजना पीएम स्वनिधि योजना के तहत 10 हजार रु तक का लोन मिलता है। इस योजना के तहत रेहड़ी-पटरी वालों को 10 हजार रु का लोन मिल सकता है। अच्छी बात ये है कि ये लोन काफी आसान शर्तों पर और वो भी बिना गारंटी के मिलता है। इस लोन को 1 साल में चुकाया जा सकता है। इतना ही नहीं आपको सरकार की तरफ से इस लोन पर सब्सिडी और कैशबैक भी मिलता है।

कब हुआ था ऐलान इस स्कीम की घोषणा पीएम मोदी द्वारा पेश किए गए 20 लाख करोड़ रु के आत्मनिर्भर राहत पैकेज के अंतर्गत की गई थी। पीएम स्वनिधि योजना के लिए 5000 करोड़ रु आवंटित किए गए थे। लॉकडाउन में रेहड़ी-पटरी वालों को फिर से रोजगार शुरू करने में मदद करने के लिए ये स्कीम पेश की गई थी।

किसान क्रेडिट कार्ड किसान क्रेडिट कार्ड एक बढ़िया योजना है। इस योजना के तहत 5 सालों के लिए 3 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है। अच्छी बात ये है कि 1.60 लाख रु तक का लोन बिना जमीन बंधक रखे मिलता है। किसानों को इस कार्ड पर केवल 4 फीसदी तक ब्याज पर लोन मिल सकता है। इसे ऐसे समझिए कि किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज दर 9 फीसदी है। मगर सरकार 2 फीसदी की सब्सिडी देती है। दूसरे 1 साल के अंदर लोन चुकाने पर किसानों को 3 फीसदी की छूट मिलती है। ऐसे में ब्याज दर रह जाती है सिर्फ 4 फीसदी।

Leave a Comment